Home » Breaking News » सुपौल : पैक्स अध्यक्ष को सरकारी गनी बेग नही मिलने से मचा हाहाकार

सुपौल : पैक्स अध्यक्ष को सरकारी गनी बेग नही मिलने से मचा हाहाकार

Advertisements

अजय सिंह

कोसी टाइम्स @ सुपौल।

सुपौल जिले मे धान अधिप्राप्ति को लेकर सरकारी स्तर पर जितनी भी काबायदे की गयी ,शुरू से धरातल पर उसकी बास्तबिकता कुछ और ही देखने को
मिली ,पहले तो सरकारी घोषणा के वावजूद क्रय केंद्र खोलने में लेट लतीफी और अब गनी बैग उपलव्ध नही होने से किसानों के खाते में धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य की राशि का भुगतान नही हो पाने से हाहाकार मचा है।
दरसअल मामला ये है कि सरकारी प्रावधान के अनुसार किसानों का धान पैक्स के माध्यम से लिया गया , धान प्राप्त होने के बाद पैक्स उस धान को संबंधित मिलर के पास चावल में बदलने के भेज देता है, फिर चावल तैयार होने पर पैक्स के द्वारा मिलर को गनी बैग उपलब्ध कराया जाता है, और मिलर उस गनी बैग मे तैयार चावल को सरकारी गोदाम तक पहुंचाता है, जिसके बाद किसानों के खाते में धान की रकम भेजी जाती है। इस प्रक्रिया में किसानों को भूगतान के लिये पहले से लेट लतीफी झेलना पड़ता है ,वहीं अब जिले में गनी बैग उपलब्ध नही होने के कारण किसान, पैक्स और मिलर के बीच हाहाकार मचा है।
इस बाबत जिला मुख्यालय स्थित राज्य खाद्य निगम के सामने जिले के दर्जनों पैक्स अध्यक्षो ने आक्रोश व्यक्त करते हुये बिभाग पर इस मामले पर उदासीनता बरतने का आरोप लगाया है, कहा कि धान अधिप्राप्ति की निर्धारित समय सीमा 31 मार्च है, और जबतक गनी बैग बिभाग द्वारा उपलब्ध कराया जायेगा ,धान अधिप्राप्ति की समय सीमा समाप्त हो जायेगी।

वही मिलर ने कहा कि तैयार चावल के लिये जिले में गनी बैग उपलब्ध नही होने के कारण मिल 26 फरवरी से बन्द पड़ा है, लाखो का नुकसान हो रहा है, बिभाग इस ओर समुचित ध्यान नही दे रहा है।
इस बाबत राज्य खाद्य निगम के जिला प्रबंधक ने बतलाया कि गनी बैग की कमी के लिये मैंने कई बार बिभाग को लिखित सूचना दिये है, लेकिन माँग के अनुसार गनी बैग उपलब्ध नही हो पाया है, जल्द उपलब्ध होने की बात कही गयी।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

मधेपुरा:जलजमाव के कारण बिहारीगंज कुस्थन,राजगंज सड़क हुई जानलेवा

**सड़क पर बने हैं बड़े-बड़े गड्ढे राहगीरों को हो रही परेशानी मुकेश कुमार कोसी टाइम्स@बिहारीगंज,मधेपुरा बिहारीगंज–कुस्थन राजगंज सड़क मार्ग दिन ...