Home » Recent (Slider) » पट खुलते ही हर हर महादेव से गुंजा सिंहेश्वर धाम ,एक लाख से अधिक श्रधालुओं ने किया जलाभिषेक

पट खुलते ही हर हर महादेव से गुंजा सिंहेश्वर धाम ,एक लाख से अधिक श्रधालुओं ने किया जलाभिषेक

Advertisements
शुशांत कुमार
सिंहेश्वर, मधेपुरा
ऐतिहासिक और पौराणिक सिंहेश्वर मेला का उद्घाटन सेमवार को डीजे मनमोहन लाल शरण ने वैदिक मंत्रोंच्चारण के बीच संयुक्त रूप से धन्यवाद गेट पर फीता काट कर किया. वहीं महाशिवरात्रि के मौके पर लगने वाला यह मेला उद्घाटन के साथ ही प्रारंभ हो गया. उद्घाटन के बाद डीआरडीए मंच पर समारोह को संबोधित करते हुए डीजे मनमोहन लाल शरण ने कहा कि शौभाग्य है हमलोगों का कि इस पावन धरती पर आने का मौका मिला. वैसे तो जिले का नाम मधेपुरा है लेकिन इस जिले का नाम सिंहेश्वर होना चाहिये था. क्योंकि यहां के लोग भुखे नही रहते किसी परेशानी में नही पड़ते है. हमेशा शांति व्यवस्था के संदेश देते है.
एसपी संजय कुमार ने कहा मेला में सुरक्षा व्यवस्था को बनाये रखने के लिये पर्याप्त पुलिस बल, अधिकारी, दण्डाधिकारी को लगाया गया है. शिवरात्रि में शिव दर्शन का लाभ उठाये और एक महिने के मेले को शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न कराये. सावन में लगने वाले मेले में स्थानीय लोगों का पुरा सहयोग मिला. यहां आने वाले बाहरी लोगों का स्थानीय लोगों ने काफी ख्याल रखा किसी को भी परेशानी नही हुयी. आशा करते है कि इस मेले में भी आपलोगों का पुरा सहयोग मिलेगा. अगर किसी को कोई भी परेशानी हो तो मेरे मोबाईल पर संपर्क कर सकते है.
मंच संचालन जिला कबड्डी संघ सचिव अरूण कुमार व शशि प्रभा जायसवाल ने किया. जबकि धन्यवाद ज्ञापन एसडीओ सह मंदिर न्यास सचिव वृंदालाल ने किया. इस मौके पर स्थानीय जनप्रतिनिधि समेत अधिकारी मौजूद थे.
– निकली शिव की बारात — 
करीब पांच बजे बाबा मंदिर परिसर से देवाधिदेव महादेव की बारात भव्य तरीके से निकाली गयी. गाजे बाजे से लैस इस बारात में शामिल दर्जनों घुड़ सवार, भुत प्रेत के लिबास में लड़के आकर्षक लग रहे थे. नगर भ्रमण के बाद बाबा की बारात गौरीपूर प्रस्थान कर गयी. शिव विवाह को लेकर अगल – बगल के जिले सहित पड़ोसी राष्ट्र नेपाल से श्रद्धालुओं का जत्था रविवार की शाम से ही सिंहेश्वर पहुंच रहे थे. मेले में सर्कस, जादूगर, झूला सहित आकर्षक मीना बाजार लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है. वहीं विभिन्न सरकारी स्टॉल पर लोगों को सरकारी योजनाओं की जानकारी भी दी जा रही है. जिला प्रशासन ने श्रद्धालुओं की सुरक्षा को पर्याप्त पुलिस बल को डियूटी पर तैनात किया है. वहीं श्रद्धालुओं की सुविधा को लेकर न्यास भी गंभीर दिख रहा है. बारात में डीएसपी वसी अहमद, एसडीओ सह न्यास सचिव वृंदालाल, बीडीओ अजीत कुमार व सीओ कृष्ण कमार सिंह सम्मिलित रहे. जबकि विभिन्न निजी विद्यालयों के द्वारा आर्कषक झांकी निकाला गया.
–दर्जनों स्टॉल का किया उद्घाटन–
समारोह के बाद डीजे मनमोहन शरण लाल, एसपी संजय कुमार, एडीएम उपेन्द्र कुमार, सीएस शैलेन्द्र कुमार, डीएसपी वसी अहमद, एनडीसी रजनीश कुमार राय, न्यास सदस्य भुपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी, उपेन्द्र रजक, सरोज सिंह, कन्हैया ठाकुर, संजीव ठाकुर व मेनेजर रवि कुमार झा ने दर्जनों स्टॉल का उद्घाटन फिता काटकर किया. जिसमें मुख्य रूप से जिला जन संपर्क कार्यालय मधेपुरा, मीना बाजार में कृषि विभाग, उद्यान निदेशालय, सबुरी सुदामा, वर्मी कंपोस्ट, उद्योग विभाग, जीविका, विभिन्न प्रर्दशनी, प्रजापति ब्रहम कुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय, जल एवं स्वच्छता समिति, नारियल विकास बोर्ड, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, रेड क्रॉस का फिता काटकर उद्घाटन किया गया. जबकि स्काउट गाईड में एसपी संजय कुमार ने झंडोतोलन करने के बाद स्काउट गाईड द्वारा किये जाने वाले कार्यो के बारें में जानकारी ली. .
पेट के लिए अमृत है डाब पानी 
डाब पानी में अनेक चिकित्सकीय गुण पाये जाते है. पेट के लिए यह काफी लाभदायक होता है. मुत्र संक्रमण को रोकता है. बुजुर्गों एवं मरीजों के लिए अद्भुत टॉनिक का काम करता है. कुपोषण में फायदे मंद होता है. शरीर को शीतल बनाये रखता है. आंत की परेशानियों से पीड़ित लोगों के लिए उत्तम पेय है. स्टॉल पर शुभारंभ के मौके पर बोर्ड के बताया गया कि नारियल पानी में मिनरल, प्रोटिन, पोटाशियम, सोडियम केलशियम के साथ प्रचुर मात्रा में आयरण एवं कॉपर भी पाया जाता है. इसके औषधीय गुणों की जानकारी आम लोगों तक पहुंचे इसलिए स्टॉल में डाब पानी की पूरी जानकारी प्रदर्शित की गयी है. स्टॉल में नारियल से तैयार उत्पाद का भी प्रदर्शन किया गया है.  .
–जाम से हलकान हुये श्रद्धालु–
देवाधिदेव के नगरी में शिवरात्रि के मौके पर हर वर्ष लाखों श्रद्धालु सिंहेश्वर पहुंचते है जिसके लिये प्रशासन पुरे तनमन से कार्य करती है. और हर छोटी बड़ी बातों का ध्यान रखती है. श्रद्धालुओं का ध्यान रखते हुये हर वर्ष मुख्य बाजार में बड़ी गाड़ियों पर प्रतिबंध भी लगाती है. लेकिन इस बार बड़ी गाड़ियों पर किसी प्रकार का प्रतिबंध नही रह पाया. बड़ी गाड़ियां आराम से मुख्य बाजार में प्रवेश करती रही. जबकि प्रशासन किसी प्रकार की अनिष्ट न हो इसके लिये पुरजोर कोशिश करती रही है लेकिन इस प्रकार से भाड़ी भीड़ में बड़े व भाड़ी वाहनों के आवाजाही से बड़ी दुर्धटना की स्थिति बनी रहती है. वहीं दुसरी तरफ मेले में काफी संख्या में लोग काफी दुर- दुर से पुहंच रहे है.
एक लाख श्रद्धालुओं ने किया बाबा का जलाभिषेक–
बिहार का देवघर कहलाने वाले बाबा नगरी सिंहेश्वर धाम में शिवरात्रि पर सोमवार को शिव भक्तों का जन सैलाब उमड़ पड़ा. शिवरात्रि को मनोकामना लिंग बाबा सिंहेश्वर नाथ पर जलार्पण करने के लिए उमड़ी श्रद्धालुओं की ने सिंहेश्वर के सड़कों को अस्त व्यस्त करता रहा. जिस वजह से दिन भर थोड़ी- थोड़ी देर पर जाम लगता रहा. एक तो श्रद्धालुओ का जाम और उपर से बड़ी गाड़ियों की मुख्य बाजार में आवाजाही. सोमवार की सुबह लगभगे तीन बजे ही गर्भ गृह का पट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया. बाबा का पट खुलते ही हर – हर महादेव के जयघोष से सिंहेश्वर मंदिर गूंज उठा. लगभग 10 बजे तक श्रद्धालु की भी नियंत्रण में रहा लेकिन उसके बाद श्रद्धालुओं का हुजुम उमड़ पड़ा. हालांकि काफी मशक्कत के बाद भीड़ को संभाला जा सका. स्थानीय लोगों की माने तो किसी को भी अंदाजा नही था कि भीड़ इतनी ज्यादा हो जायेगी. भीड़ ऐसी हुई कि देर शाम तक मंदिर में श्रद्धालुओं का रैला यथावत स्थिति में चलता रहा. इस दौरान एक लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने सिंहेश्वर बाबा का जलाभिषेक किया. शिवरात्रि पर सिंहेश्वर बाजार का माहौल भक्तिमय बना रहा. वहीं मंदिर परिसर में सीसीटीवी कैमरें के जरिये श्रद्धालुओं की सुरक्षा कि जा रही थी. कंट्रोल रूम में विभिन्न पदाधिकारी कैमरें पर नजर जमाये बैठे थे.

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

शुरुआत क्षणो में ईभीएम में आई गड़बड़ी को फौरन ठीक कर सुचारूपूर्वक हुआ मतदान,कई केन्द्र पर बीएलओ की हुई शिकायत

सुभाष चन्द्र झा कोशी टाइम्स @ सहरसा. लोकसभा चुनाव के तृतीय चरण में मधेपुरा लोकसभा एवं खगड़िया लोकसभा के लिये ...