Home » Recent (Slider) » पूर्णिया : किसान की बेटी बीपीएससी में 246वां रेंक लाकर किया जिले का नाम रौशन

पूर्णिया : किसान की बेटी बीपीएससी में 246वां रेंक लाकर किया जिले का नाम रौशन

पूर्णिया

विकास वर्मा

बीपीएससी  की परीक्षा के परिणामों में जिले के मोहनिया बनमनखी के किसान सुरेंद्र साह की बेटी कुमारी पूर्णिमा ने 246 वां रेंक प्राप्त किया है. पूर्णिमा के पिता मूल रूप से किसान  है और मां मालती देवी महिला पर्यवेक्षिका के पद पर कार्यरत है. पूर्णिमा का कहना है कि उनकी सफलता में उनके संयुक्त परिवार का बड़ा योगदान है. उनके माता एवं पिता उन्हें बीपीएससी में सफलता हासिल करने के लिए प्रेरित किया.

पूर्णिमा का जन्म 10 अप्रैल 1993 को हुआ था. उसने मिडिल स्कूल की पढ़ाई गांव के ही सरकारी स्कूल में की. उसके बाद गर्ल्स स्कूल पूर्णिया से मैट्रिक की परीक्षा पास  की. 12 वीं की परीक्षा पूर्णिया कॉलेज पूर्णिया से की. ग्रेजुवेशन जीएलएम कॉलेज बनमनखी से की. उसके बाद पटना में रहकर यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी और पहले ही प्रयास में बीपीएससी में सफलता हासिल हुई . करीब दो साल से वह पटना में महाबोद्धि सिविल सर्विसेस नामक ग्रुप बना कर खुद तैयारी करने लगी. पूर्णिमा चार बहन दो भाई है. बहन में वे सबसे छोटी है. एक बहन महिला कॉलेज में प्रोफेसर के पद पर है तो दूसरी बहन शिक्षिका है और तीसरी बहन इंदिरा आवास में सहायक पद पर कार्यरत है.

पूर्णिमा का पिता का कहना है कि वे अपनी बेटी की सफलता से अभिभूत हैं और उसने यह साबित किया है कि जिले के किसान की बेटियां किसी से कम नहीं है. वहीं पूर्णिमा ने बताया कि उसने टापिक्स के हिसाब से परीक्षा की तैयारी की और औसतन 16से18 घंटे पढ़ाई की. उसकी राइटिंग , पढ़ाई के साथ-साथ नियमित ध्यान और प्राणायाम है. एक सिविल सेवक के रूप में वे ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने में अपना योगदान देना चाहेंगी. वे ग्रामीण भारत के विकास का सपना देखती हैं. उनका लक्ष्य यूपीएससी का है जिसकी तैयारी भी कर रही है.

Comments

comments

x

Check Also

मधेपुरा:पुरैनी में कैंडल मार्च निकाल किया शहीदों को नमन

घनश्याम कुमार सहनी कोसी टाइम्स@पुरैनी, मधेपुरा सोमवार को पूर्वी औराय के ग्रामीणों ने कैंडल मार्च निकाल कर पुलवामा के शहीदों ...