Home » Recent (Slider) » बीपीएससी (सहायक प्राचार्य) में ब्यूटी ने सफलता पा मधेपुरा का नाम किया रौशन

बीपीएससी (सहायक प्राचार्य) में ब्यूटी ने सफलता पा मधेपुरा का नाम किया रौशन

प्रशांत कुमार

 

बीपीएससी द्वारा आयोजित विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं अंगीभूत महाविद्यालयों में सहायक प्राचार्य पद पर नियुक्ति हेतु लिए गए साक्षात्कार में अंतिम रूप से रिजल्ट जारी कर दिया गया जिसमें ब्यूटी कुमारी ने सफलता पाकर मधेपुरा का नाम रौशन किया है।

बीपीएससी द्वारा निकाले गए संस्कृत विषय के 57 पदों के वेकेंसी में कुल 7000 आवेदन किए गए थे. इसमे 251 उम्मीदवारों को साक्षात्कार के लिए बुलाया गया  ।साक्षत्कार के बाद अंतिम रूप से कुल 57 अभ्यर्थियों का नाम बुधवार को जारी कर दिया गया।मधेपुरा के ब्यूटी कुमारी को ललित नारायण मिथला विश्वविद्यालय दरभंगा में संस्कृत विषय में सहायक व्याख्याता के पद के लिए चुना गया है.

कौन है ब्यूटी कुमारी

भूपेंद्र नारायण मण्डल विश्विद्यालय के पूर्व कुलसचिव सचिन्द्र बाबू और मधेपुरा वार्ड नं 04 की पार्षद अहिल्या देवी की सुपुत्री है ब्यूटी कुमारी।इस वक्त ब्यूटी दिल्ली बोर्ड में संस्कृत विषय की शिक्षिका के पद पर कार्यरत है। ब्यूटी की प्राथमिक शिक्षा जिले के शांति आदर्श मध्य विद्यालय से शुरू हुआ और फिर 10 वीं तक केशव कन्या बालिका उच्च विद्यालय और बीएनएमयू से ग्रेजुएट होने के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हॉउस से पोस्ट ग्रेजुएट ,विश्व भारती शन्ति निकेतन केंद्रीय विश्वविद्यालय बोलपुर से पीएचडी की है।ब्यूटी नेट जे आर एफ क्वालिफाइड है।

अगर बात करे इनके द्वारा निभाये गए भूमिका का तो वो भी एक अलग ही अध्याय है।संस्कृत भाषा पर अब तक करीब 25 राष्ट्रीय अंतराष्ट्रीय सेमिनार /कॉन्फ्रेंस में भाग ले चुकी है।उसने 2 पुस्तकों की समीक्षा, संपादन और सह-लेखन भी किया। राष्ट्रीय संगोष्ठी के सह-संपादक, बुलेटिन, और नई दिल्ली से प्रकाशित होने वाली द कोर की ई मैगजीन जाह्नवी संस्कृत-ई-पत्रिका ( मासिक पत्रिका ) में संवाददाता के रुप में भी कार्य की है।

अगर एक नजर ब्यूटी के परिवार के अन्य सदस्यों पर डाला जाय तो घर में साक्षात् सरस्वती का वास है.घर में ब्यूटी के चार बहन और एक भाई है जहाँ सभी अपने अपने शिक्षा के बल पर बड़े कुर्सी पर तैनात है.अगर बात करे सबसे बड़ी बहन रंजीता कुमारी की तो शिक्षिका है,दुसरे स्थान पर बहन इंदु कुमारी भारतीय जनसंचार संस्थान दिल्ली से स्नातक कर लम्बे समय तक ई टीवी नेटवर्क के साथ कार्य किया और अभी वर्तमान में फिल्म और टेलीविजन लाइन से जुड़ी है.तीसरे स्थान पर ब्यूटी कुमारी अभी सहायक प्राचार्य के रूप में सफल हुई है और चौथे स्थान पर बहन जय श्री उर्फ़ स्वीटी बिहार न्यायिक सेवा में जज के रूप में कार्यरत है.चार बहन में एकलौते भाई तुरबसु अभी न्यूज़ 18 के मधेपुरा जिला प्रभारी है.पिता जी सचिन्द्र बाबु भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय से सेवानिवृत कुलाचिव है. और माँ अहिल्या देवी मधेपुरा नगर परिषद के वार्ड 4 की पार्षद हैं.

ब्यूटी कुमारी ने बीपीएससी द्वारा आयोजित इस कड़ी परीक्षा को पास कर समाज मे व्याप्त मिथ्या को जबरदस्त तरीके से तोड़ दिया है।एक सरकारी विद्यालय से अपनी सफर शुरू कर दिल्ली विश्वविद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएट और विश्व भारती शांति निकेतन केंद्रीय विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधि और अब सहायक व्याख्याता ।निश्चित ही कड़ी संघर्ष और मेहनत रही है लेकिन आज जो मुकाम मिला है आज के युवाओं के लिए सीख है।छात्र युवा ब्यूटी के सफर को आत्मसात कर खुद बुलन्दी को छू सकता है।

Comments

comments

x

Check Also

मधेपुरा:पुरैनी में कैंडल मार्च निकाल किया शहीदों को नमन

घनश्याम कुमार सहनी कोसी टाइम्स@पुरैनी, मधेपुरा सोमवार को पूर्वी औराय के ग्रामीणों ने कैंडल मार्च निकाल कर पुलवामा के शहीदों ...