Home » Recent (Slider) » नीतीश कुमार करें इस्तीफा,नहीं तो हो बिहार में राष्ट्रपति शासन- पूर्व मंत्री ई0अजीत

नीतीश कुमार करें इस्तीफा,नहीं तो हो बिहार में राष्ट्रपति शासन- पूर्व मंत्री ई0अजीत

Advertisements

कोसी टाइम्स प्रतिनिधि@मुजफ्फरपुर
सुबे में तबा-तोर हो रहे हत्या व लूट की घटना से भय एवं आतंक का माहौल बन गया है । लोग दहशत में हैं, वहीं पुलिस अपराधियों के सामने बौना साबित हो रही है। लगता है कि बिहार अब पूरी तरह अपराधियों के गिरफ्त में आ गया है। ऐसे में कानून व्यवस्था कायम रखने में विफल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कुर्सी का मोह छोड़ राज हित में इस्तीफा दे देना चाहिए। उक्त बातें शनिवार को बीबीगंज स्थित अपने आवास पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए हम (से0) किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने कहा। उन्होंने कहा कि जिस तरह प्रति दिन दर्जन के हिसाब से व्यवसाई एवं आम जनों का सरेआम हत्या व लूट की घटना घट रही है उससे आमजन पूरी तरह थर्रा गए हैं नीतीश शासन में अब आम लोगों के जान का कोई मोल नहीं रहा। उन्होंने कहा इस राज्य में मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री व नौकरशाह सभी जुमलेबाज हो गए हैं।वे बड़ी घटनाओं पर केबल कानून का राज होने तथा अपराधियों को पताल से खोज निकालने की बात करते हैं ।लेकिन अपराधी को शिकस्त करना तो दूर लगातार अपराध की घटनाओं में वृद्धि हो रही है । ई0 कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार पूरी तरह फेल हो गए हैं इनके सरकार का एकबाल भी समाप्त है। तभी तो मुख्यमंत्री स्वयं एवं इनके मंत्री अपराधियों के समक्ष गिर- गिराते रहते हैं । उन्हें बिहार की जनता का अब कोई प्रवाह नहीं है। आज बिहार हत्या, लूट, बलात्कार जैसी घटनाओं से पूरी तरह त्रस्त है वहीं इस पर नियंत्रण करने के बजाय मुख्यमंत्री दिल्ली में बैठ राजनीति कर रहे हैं लगता है की पूरी व्यवस्था संवेदनहीन हो गई है ।
उन्होंने कहा की नीतीश कुमार जी यदि शीघ्र इस्तीफा नहीं करते हैं तो उनका नाम बिहार के इतिहास में काले अक्षरों में लिखा जाएगा।
ई0 कुमार ने महामहिम राज्यपाल से भी बिहार का ध्वस्त कानून व्यवस्था पर शीघ्र संज्ञान लेने की मांग करते हुए कहा कि महामहिम राज्य हित में शीघ्र ही बिहार में राष्ट्रपति शासन लागू करने की अनुशंसा आप केंद्र से करें।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

नियति के आगे न किसी का चला है

नियति के आगे न किसी का चला है नियति के आगे न किसी का चला है न किसी का चलेगा। ...