Home » Breaking News » मुजफ्फरपुर:मोतीपुर से लापता युवक की पारु से शव बरामद

मुजफ्फरपुर:मोतीपुर से लापता युवक की पारु से शव बरामद

Advertisements

मोतीपुर,मुजफ्फरपुर से सुधीर कुमार की रिपोर्ट

मोतीपुर थाना क्षेत्र के बरियारपुर रुदल गाँव के लापता युवक रंजन साह का शव गुरुवार की सुबह पुलिस ने पारू थाना क्षेत्र के कपडफोडी गांव स्थित एक पुलिया के नीचे से बरामद किया। शव की बरामदगी आरोपी मृतक के जेष्ठ साढू पुरानी बाजार निवासी बालेन्द्र साह की निशानदेही पर हुई है। बालेन्द्र साह ने मृतक की पत्नी की मिली भगत से दो अन्य साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या प्लास्टिक के रस्सी से गला कसकर किया था।
बताया जा रहा है कि आरोपी का मृतक की पत्नी के साथ अवैध सम्बंध था। साथ ही आरोपी मृतक की पत्नी की मिली भगत से मृतक के ससुराल और उसके पैतृक गाँव की सम्पति को हड़पना चाहता था। शव के गले मे प्लास्टिक की रस्सी कसी थी और उसका हाथ बंधा था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया। पोस्टमार्टम के बाद शव का परिजनों ने अन्तिम संस्कार कर दिया है। जानकारी हो कि मृतक रंजन साह की मां ने 12 नवम्बर को मोतीपुर थाना में आवेदन देकर रंजन साह के लापता होने की शिकायत की थी।

बताया गया था कि विगत 9 नवंबर को वह अपने साढू बालेन्द्र साह के साथ पत्नी की झाड़फूंक के लिए ससुराल गया। पर वापस नही लौटा। उसने आशंका जताई थी कि आरोपी बालेन्द्र साह ने अपनी पत्नी रिंकू देवी, सुशीला देवी, सुशीला देवी की मां और पिता असगर साह के साथ मिलकर उसके पुत्र की हत्या कर शव को गायब कर दिया है। आवेदन के आलोक में कारवाई करते हुए पुलिस ने बालेन्द्र साह हो हिरास्त में ले लिया। पुलिस ने कलकलिया चवर के समीप से रंजन की बाइक लावारिस स्थिति में बरामद की।

पुलिस ने जब बालेन्द्र साह से सख्ती से पूछा तो उसने अपने दो अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर रंजन की हत्या 9 नवम्बर की रात गला कसकर करने और शव को पारू थाना क्षेत्र के कपडफोडी पुलिया के नीचे छिपाए जाने की जानकारी दी। जिसके बाद पुलिस ने शव को बरामद कर लिया। पोस्टमार्टम के बाद जैसे ही रंजन का शव उसके पैतृक गांव बरियारपुर रुदल पहुँचा गाँव मे कोहराम मच गया। उसकी मां चंदा देवी का रोरोकर बुरा हाल था। रंजन को एक लड़का और लड़की है। उसकी हत्या से परिवारजनों के सामने भारी मुश्किल आ गई है। रंजन के 5 वर्षीय बड़े बेटे विशाल ने शव को मुखाग्नि दी। जेडीयू नेता रवि चौधरी, स्थानीय मुखिया उमा देवी के पति वीरेंद्र सहनी और शिक्षक विनोद कुमार ने मृतक के परिजन को आर्थिक सहायता दी है।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

सहरसा वाशिंग एप्रोन नहीं रहने से रेल पटरी पर सफाई मुश्किल

सुभाष चन्द्र झा कोसी टाइम्स@सहरसा इसे रेलवे की अदूरदर्शिता कहे या लापरवाही के कारण रेल पटरियों पर गंदगी भरमार है ...