Home » Recent (Slider) » उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही मधेपुरा जिले में छठ पर्व संपन्न

उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही मधेपुरा जिले में छठ पर्व संपन्न

संजय कुमार सुमन
कोसी टाइम्स@मधेपुरा
उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही मधेपुरा जिले में आज छठ पर्व संपन्न हो गया। इस दौरान जिले के घाटों और विभिन्न स्थानों पर बने घाटों में श्रद्धालुओं की जबरदस्त भीड़ रही।
मधेपुरा जिले के लोग पिछले चार दिन से छठ पर्व मनाने को लेकर खासे व्यस्त थे। आज आखिर दिन नदी एवं तालाब पर बनाए अनेकों घाटों पर सुबह सूर्य को अर्घ्य देने के लिए भारी भीड़ जमा हुई। इनमें महिलाएं, पुरुष और बच्चे सभी शामिल थे। घाटों पर व्रतियों ने उदय होते सूर्य को अर्घ्य देकर भगवान भास्कर और छठ मइया के प्रति अपनी गहरी आस्था प्रकट की। सुबह की बेला में विभिन्न छठ घाट रोशनी से सराबोर नजर आ रहे थे।पूजा को लेकर सभी जगहों पर  खासकर बच्चों में गजब का उत्साह देखने को मिला।इतना ही नहीं मन्नतें पूरी होने पर कई उपासक अपने घर से नजदीक के छठ घाट पर दंड प्रणाम करते हुए पूजा पाठ कर भगवान भाष्कर को अर्ध्य दिया।
देखें वीडियों 
https://youtu.be/WFapdFsLvqI
इन घाटों पर कल शाम डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही रौनक देखने लायक थी। श्रद्धालुओं ने पूरी रात इन घाटों के किनारे डेरा डाल लिया था और सुबह होते ही सूर्य को अर्घ्य देने की परंपरा शुरू कर दी। रात भर कई घाटों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। चार दिन से चल रहे छठ पर्व को लेकर खासी गहमागहमी रही। नेताओं एवं पदाधिकारियों ने घाटों पर जाकर व्यवस्था का जायजा लिया।
पुलिस अधीक्षक संजय कुमार,जिलाधिकारी नवदीप शुक्ला,उपविकास आयुक्त मुकेश कुमार अपने दल बल के साथ पिछले चार दिन से घाटों का जायजा लेने में लगे नजर आए, तो पार्टी के सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव  व विधायक भी अपने इलाकों में इस बात की चिंता में लगे रहे कि व्रतियों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े।
मधेपुरा कोसी टाइम्स प्रतिनिधि मेराज आलम के अनुसार मधेपुरा जिला मुख्यालय में एक ऐसा छट घाट बनाया गया है ऊपर मंदिर और नीचे छट घाट बनाया गया है। इस मंदिर का  इतिहास रहा है कि इस मंदिर में जो आता है उनकी मन्नते पूरी हो जाती है। आस्था और विस्वास का यह मंदिर काफी दिनों से यहा पर अवस्थित है। शानदार तरीके से छट घाट को भव्य तरिके से सजाया गया है।

प्रसासन की बात करे तो काफी संख्या में पुलिस बल यह तैनात किया गया है ताकि कोई घटना न घटे। इसके लिए गोताखोर एवं काफी संख्या में रबर बोर्ट का इंतेजाम किया गया है। NDRF की टीम भी काफी सक्रिय दिखी।  प्रशासन की ओर से चिन्हित घाटों पर जगह जगह पर बेरिकेटिंग कर लोगों को ज्यादा पानी में जाने से रोक लगा दिया गया था तथा मोटरवोट के साथ साथ गोताखोर को तैनात किया था ।जगह जगह पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर दंडाधिकारी के साथ भारी संख्या में सुरक्षा कर्मी  भी मौजूद थे।

चौसा,मधेपुरा से कुमार साजन के अनुसार चौसा प्रखंड के विभिन्न क्षेत्र चौसा कृषि फॉर्म,कृष्ण टोला पोखर,कोशी डैनेज,लौवालगान,घोषई, कलासन,चिरौरी,मोरसंडा,फुलौत समेत जगहों पर प्रातः कालीन अर्ध्य से साथ ही लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा सम्पन्न हुआ।

मौके पर लोगो मे गजब का उत्साह देखने को मिला।लोगो ने माथा पर सुप व अन्य पूजन सामग्री से भरे हुए डाला को लेकर अपने घाट की ओर जा रहे थे। साथ ही साथ महिलाओ ने छठ पूजा का गीत गाती हुई जा रही थी छठ की गीत गली गली में बज रही थी जिससे कि चौसा में पूर्ण रूप भक्तिमय का माहौल बना हुआ था।लोगो के मन्नते पूरी होने पर दंड प्रणामयम देते हुई घाट पर पूजा पाठ कर भगवान भाष्कर को अर्ध्य दिया।मौके पर विभिन्न जगहों पर लोगो ने प्रतिमा बैठाकर सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया था जिसमे में की कलाकरो ने अपनी कला व एक से बढ़ कर एक छठ गीत पर उपस्थित लोगों को झूमने को मजबूर कर दिया।

उधर प्रखंड प्रशासन की ओर से जगह जगह घाट पर बेरिकेटिंग कर लोगो को ज्यादा पानी मे जाने से रोक लगा दिया था तथा आवश्यकता के अनुसार मोटरवोट के साथ साथ गोटाखोर को तैनात किया था ।जगह जगह पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर दंडाधिकारी के साथ अन्य भारी संख्या में सुरक्षा कर्मी को भी मौजूद किया गया था।स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा लगातार अपनी पूरी टीम के साथ पूरी तरह से मुस्तैद रहे।मौके पर बीडीओ इरफान अकबर,सीओ आशुतोष कुमार एवं तमाम प्रशासनिक अधिकारी और कर्मी पेट्रोलिंग करते रहे।

कृष्ण टोला में बनाया गया था मॉडल घाट

चौसा प्रखंड विकास पदाधिकारी इरफ़ान अकबर ने बताया कि कृष्ण टोला तालाब को मॉडल तालाब बनाया गया।जिसे आकर्षक तरीके से सजाया गया है और महिलाओं को कपड़े बदलने के लिए चेंज रूम भी बनाया गया है। यहाँ स्थानीय ग्रामीणों द्वारा सूर्यदेव की मूर्ति भी स्थापित की गई।इसके अलावे कृषि फॉर्म में भी सूर्यदेव की मूर्ति भी स्थापित की गई है।

लोगो का मन मोह लिया स्थानीय कलाकार

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ साथ स्थानीय युवावों के द्वारा नाटक कार्यक्रम में अपनी कला को दिखाकर मन मोह लिया नाटक का शीर्षक जला दो दहेज लोभी दानव को जब शुरू किया गया तो लोग कार्यक्रम को देखते हुए भावुक हो गए कि किस तरह चन्द दहेज के कारण लड़की को ससुराल वालों के द्वारा प्रताड़ित करते हैं।

पुरैनी,मधेपुरा से घनश्याम कुमार सहनी के अनुसार बुधवार की सुबह उगते सूर्य को अर्पित करने के साथ ही लोक आस्था का महापर्व छठ सम्पन हो गया इसके बाद व्रतियों ने उपवास तोड़ा और लोगों ने छठ का प्रसाद ग्रहण किया मंगलवार की शाम डुबते सूर्य को अर्ध्य अर्पित करने के बाद व्रतियों ने पूरी रात जगकर विताई भोर में सूर्य उगने से पहले व्रति मुख्यालय गोशाला पुरैनी छठ घाटों की तरफ चल पड़े।

देखें वीडियो 


गली मुहल्ले में छठ के जैसे जोड़े-जोड़े सुपवा, जोड़े-जोड़े सुपवा हम तोहरे चढेवो ना हो छठी मईया तोहरे चढेवो ना गीत सुनाई पड़ने लगी बच्चे बूढ़े सभी मुख्यालय गोशाला पुरैनी छठ घाट तक पहुँचे।व्रतियों ने भगवान सूर्य निकलने का इंतजार शुरू किया तब तक घाटों पर छठ के गीत गूंजते रहे ।ज्योहीं पूरब दिशा में भगवान सूर्य की लालिमा दिखी व्रतियों ने उन्हें अर्ध्य अर्पित करना शुरू किया।


ग्रुप ऑफ फ्रेंड्स(बड़ी हाट पुरैनी) प्रीतम कुमार रजक ,आशीष कुमार रजक,रौनक चौरसिया,आशीष कुमार निषाद,सूरज कुमार सहनी,भूलन शर्मा,कौशल कुमार,अमित पोद्दार,ज्योतिष सिंह,मनीष सिंह,राहुल ठाकुर,अनवर आलम,एवं ट्विंकल कुमार की ओर से अर्ध्य के लिए 150 kg दूध का 5 जगहों पर वितरण किया गया।पुरैनी प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी बिरेन्द्र कुमार की ओर से व्रती महिलाओं को घर जाने के क्रम में सैकड़ों की संख्या में प्रसाद वितरण किया गया।


अंचलाधिकारी पुरैनी के रमावतार यादव ने पुरैनी में छः गहरे घाटों पर प्रतिनियुक्त किए गए थे।गोताखोर को मुख्यालय के गोशाला पोखर छठ घाट पर विनोद कांबली निषाद ,पुरंधरनाथ मंदिर (शिव)पोखर छठ घाट पर दिनेश सहनी, बथनाहा पोखर छठ घाट पर लक्ष्मण कुमार,कड़ामा ड्रेनेज घाट पर मनोज सहनी,सपरदह तिरासी आशीष कुमार एवं दुर्गापुर बाघमारा पोखर छठ घाट पर कैलाश सहनी गोताखोर के रूप में थे।

Comments

comments

x

Check Also

मधेपुरा : गुरु सूर्य के समान है तथा शिष्य चंद्रमा के समान – सुश्री कालंदी भारती

रविकांत कुमार कोसी टाइम्स @ मधेपुरा । “दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान” की ओर से मुरलीगंज में नौ दिवसीय श्रीमद् भागवत ...