Home » Recent (Slider) » साहित्य:छल कपट धोखा

साहित्य:छल कपट धोखा

छल कपट धोखा

छल कपट धोखा

सब देखा और

सहा तेरे प्यार में

क्या मेरे प्यार की

यही कीमत थी

कोसी टाइम्स

अंतिम सांस तक

साथ निभाने का

किया था तुमने वादा

बीच मझधार में ही छोड़कर

खुद पार कर गया नैया

कोसी टाइम्स

कितने वादों को पूरा करने का

तूने खाई थी कसम

तेरा वादा

तेरी कसम

तेरी मोहब्बत

सब निकला फरेब

तू फरेब है

या है तेरी मोहब्बत

यह खुद ना जान पाया

और मैं

निभाता रहा मोहब्बत

छल कपट धोखा

सब देखा और

सहा तेरे प्यार में।

संजय कुमार सुमन

मंजू सदन,चौसा

मधेपुरा 852213

Comments

comments

x

Check Also

सहरसा अंचल के वरीय लिपीक का रिश्वत लेते विडियो वायरल, निलंबित

**जिलाधिकारी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल प्रभाव से किया निलंबित राजेश कुमार डेनजिल कोसी टाइम्स@सहरसा जिले के ...