Home » Recent (Slider) » भोजपुरी सिनेमा की तरक्‍की के मुद्दे पर उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी से मिले रवि किशन

भोजपुरी सिनेमा की तरक्‍की के मुद्दे पर उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी से मिले रवि किशन

कहा :  यूपी-झारखंड की तरह बिहार में भी भोजपुरी फिल्‍मों को मिले सब्सिडी

रवि किशन ने बिहार में 500 थियटरों का चैन लाने की जताई ख्‍वाहिश      

पटना। सुपर स्‍टार रवि किशन ने आज भोजपुरी सिनेमा की तरक्‍की और उसमें राज्‍य सरकार के सहयोग के मुद्दे पर बिहार के वित्त मंत्री सह उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी से मुलाकात की। इस दौरान दोनों के बीच लंबी बातचीत हुई, जिसमें मोदी की ओर से उनकी मांगों पर विचार करने का आश्‍वासन दिया गया। साथ ही उन्‍होंने उपमुख्‍यमंत्री के सामने राज्‍य भर के छोटे शहरों और कस्‍बों में 500 थियेटरों का चैन लाना की इच्‍छा जताई। बता दें कि रवि किशन भाजपा के नेता भी हैं।

उपमुख्‍यमंत्री से मुलाकात के बाद रवि किशन ने कहा कि बिहार के उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी से हमारी मुलाकात बेहद सकारात्‍मक रही है। हमने उनसे कहा कि आज भोजपुरी सिनेमा की दशा और दिशा बदली है। दूसरे राज्‍यों में भोजपुरी फिल्‍मों की शूटिंग में सरकार का बेहतर सहयोग मिलता है। यूपी और झारखंड में तो सरकार सब्सिडी भी देती है। मगर बिहार की भाषा भोजपुरी अपनी ही माटी में सरकार की ओर से उपेक्षा की शिकार है। इसलिए हमने उनसे आग्रह भी किया कि बिहार में भोजपुरी सिनेमा के विकास के लिए सरकार की ओर सब्सिडी दी जाये।

रवि किशन ने कहा कि हमारी इच्‍छा है बिहार में 500 थियेटरों का चैन लाने की। इसके लिए हमें राज्‍य सरकार की मदद की जरूरत होगी। उन्‍होंने कहा कि बिहार की माटी ने हमें रवि किशन बनाया है। इसलिए हम यहां सिनेमा के विकास के लिए कुछ करना चाहते हैं। इसी दिशा में 500 थियटरों का चैन लाना चाहते हैं, जो तकरीबन 100 के आसपास सीट वाली होगी। इसके लिए हम सरकार से जमीन व अन्‍य मदद की अपेक्षा करते हैं। उन्‍होंने कहा कि समाज और प्रदेश की तरक्‍की में सिनेमा का भी बहुत महत्‍व है, यही वजह है कि हमने अपना प्रस्‍ताव से उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी को अवगत कराया।

Comments

comments

x

Check Also

आज डूबते व कल उगते सूर्य को देंगे अर्घ्य, छठ पर्व पर मधेपुरावासियों में भारी उत्साह

संजय कुमार सुमन  कोसी टाइम्स@मधेपुरा  मधेपुरा जिले के विभिन्न क्षेत्रों  में छठ पर्व की छटा बिखरी हुई है। सूर्योपासना के ...