Home » Recent (Slider) » तीन दिवसीय आपदा प्रबंधन कार्यशाला का हुआ शुभारम्भ

तीन दिवसीय आपदा प्रबंधन कार्यशाला का हुआ शुभारम्भ

विश्वविद्यालय प्रतिनिधि

मानव जीवन बहुमूल्य है। हर हाल में जीवन की रक्षा होनी चाहिए। हम बहुमूल्य जीवन की रक्षा करने में सक्षम हों, इसके लिए आपदा का प्रबंधन जरूरी है। यह बात कुलपति डाॅ. अवध किशोर राय ने कही। वे शनिवार को तीन दिवसीय आपदा प्रबंधन कार्यशाला का उद्घाटन कर रहे थे। कार्यशाला का आयोजन राष्ट्रीय सेवा योजना के तत्वावधान में विश्वविद्यालय प्रेक्षागृह में किया गया था।

कुलपति ने कहा कि कभी-कभी हम जिसकी उम्मीद नहीं करते हैं, वैसी घटनाएं घट जाती हैं। ऐसी घटनाओं को रोकने और उससे निपटने के उपाय जानना जरूरी ह। इसलिए हभ क्रमबद्ध रूप से ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित करेंगे। इससे एक-एक चैन बनेगा। कुलपति ने कहा कि सभी एनएसएस स्वयंसेवक आपदा प्रबंधन के दूत बनें। वे अपना जीवन मानवता की सेवा में समर्पित करें। एनएसएस के संदेशों को जन जन तक पहुँचाएं।

 

प्रति कुलपति डॉ. फारूक अली ने कहा कि आपदा प्रबंधन के लिए जागरूकता जरूरी है। जो हमारे वश में है, हम पहले उसे नियंत्रित करें।
उन्होंने कहा कि विकास की अंधिदौड़ ने आपदाओं को बढ़ावा दिया है। अतः हमें आपदाओं को रोकने के लिए अपनी विकास नीति बदलनी होगी। अतिथियों का स्वागत समन्वय डाॅ. अशोक कुमार सिंह ने किया। संचालन पीआरओ डाॅ. सुधांशु शेखर एवं सीएम साइंस काॅलेज के कार्यक्रम पदाधिकारी संजय कुमार परमार ने किया।

इस अवसर पर उप क्रीड़ा सचिव डाॅ. शंकर कुमार मिश्र, पार्वती साइंस काॅलेज के कार्यक्रम पदाधिकारी अभय कुमार, विनय कुमार, मनोज पाण्डेय, मलिक कुमार, आनंद कुमार आदि उपस्थित थे।

Comments

comments

x

Check Also

कटिहार:तकनीकी सहायकों के लिए काउंसलिंग कल,प्रतिनियुक्त किए गए दंडाधिकारी

तौक़ीर रज़ा कोसी टाइम्स@कटिहार पंचायती राज विभाग के अंतर्गत तकनीकी सहायकों के लिए 17 नवंबर को एवं लेखापाल-सह- आईटी सहायकों ...