Home » Breaking News » पूर्व प्रधानमन्त्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार शाम एम्स में इलाज के दौरान निधन,पूरा देश शोक में

पूर्व प्रधानमन्त्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार शाम एम्स में इलाज के दौरान निधन,पूरा देश शोक में

संजय कुमार सुमन@कोसी टाइम्स 
‘काल के कपाल पर लिखने-मिटाने’ वाली वह अटल आवाज हमेशा के लिए खामोश हो गई। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार शाम एम्स में इलाज के दौरान निधन हो गया। वह 93 साल के थे। एम्स ने शाम को बयान जारी कर बताया, ‘पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 16 अगस्त 2018 को शाम 05.05 बजे अंतिम सांस ली। पिछले 36 घंटों में उनकी तबीयत काफी खराब हो गई थी। हमने पूरी कोशिश की पर आज उन्हें बचाया नहीं जा सका।’ वाजपेयी को यूरिन इन्फेक्शन और किडनी संबंधी परेशानी के चलते 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। मधुमेह के शिकार वाजपेयी का एक ही गुर्दा काम कर रहा था।
पीएम मोदी 24 घंटे में दूसरी बार आज एम्स पहुंचे थे। बुधवार को एम्स ने आपात बुलेटिन जारी कर पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की हालत को नाजुक बताते हुए उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखे जाने की बात कही थी। एम्स ने गुरुवार को भी बुलेटिन जारी कर उनकी हालत के नाजुक बने रहने और लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखे जाने की जानकारी दी थी। वाजपेयी के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए शनिवार से ही पक्ष-विपक्ष के राजनेता, केंद्रीय मंत्री, राज्यों के मुख्यमंत्री एम्स पहुंच रहे थे।

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद सहित कई दिग्‍गज नेताओं ने शोक जताया। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे. ओम शांति !
इससे पहले पीएम मोदी ने कविता के जरिये ट्वीट किया और लिखा, लेकिन वो हमें कहकर गए हैं-
“मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं,
ज़िन्दगी सिलसिला, आज कल की नहीं
मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं,
लौटकर आऊँगा, कूच से क्यों डरूं?”

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर अटल बिहारी बाजपेयी के निधन पर गहरा शोक जताया और ट्वीट किया, पूर्व प्रधानमंत्री व भारतीय राजनीति की महान विभूति श्री अटल बिहारी वाजपेयी के
देहावसान से मुझे बहुत दुख हुआ है। विलक्षण नेतृत्व, दूरदर्शिता तथा अद्भुत भाषण उन्हें एक विशाल व्यक्तित्व प्रदान करते थे। उनका विराट व स्नेहिल व्यक्तित्व हमारी स्मृतियों में बसा रहेगा।

 

Comments

comments

x

Check Also

धमदाहा में शांतिपूर्वक तरीके से निकाली गई मुहर्रम की जुलूस

राकेश अनंत कन्हैया कोसी टाइम्स@धमदाहा,पूर्णियां धमदाहा प्रखंड क्षेत्र में शांतिपूर्ण माहौल में मुहर्रम की जुलूस निकाली गई. मुहर्रम के जुलूस ...