Home » आस-पास » कटिहार:कोढ़ा के मधुरा में बिजली की लो वोल्टेज से उपभोक्ता परेशान

कटिहार:कोढ़ा के मधुरा में बिजली की लो वोल्टेज से उपभोक्ता परेशान

तौक़ीर रज़ा
कोसी टाइम्स@कटिहार

कोढ़ा प्रखंड के कोलासी फीडर के मधुरा पंचायत में बिजली की लो वोल्टेज की समस्या से उपभोक्ता परेशान हैं। शाम के वक्त बिजली का लोड बढ़ने से वोल्टेज एकाएक कम हो जाता है। दर्जनों उपभोक्ताओं ने लो वोल्टेज की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए कई बार बिजली विभाग के अधिकारियों से सम्पर्क साधा मगर अब तक समाधान नहीं हो पाया। गर्मी के मौसम में लो वोल्टेज की समस्या रहने के कारण मधुरा पंचायत के वार्ड संख्यां दो, तीन, छह के बिजली उपभोक्ता परेशान हैं।

गांव में पोल तो लगाया लेकिन तार नहीं

उपभोक्ताओं ने आरोप लगाया कि विभाग के द्वारा महीने में बिजली बिल की राशि ली जाती है। लेकिन शाम के वक्त बिजली का लो वोल्टेज रहने से छात्रों की पढ़ाई सहित अन्य घरेलू कार्य प्रभावित होते है।
लो वोल्टेज की समस्या से तकरीबन पांच हजार की आबादी जूझ रही है। एसी, कूलर तो दूर पंखे नहीं चल रहे हैं। ऐसे में गर्मी से लोग बेहाल हैं, न तो उन्हें समय से पानी मिल रहा है और न ही लोग अपनी नींद पूरी कर पा रहे हैं। इस समस्या को लेकर लोगों का आक्रोश कभी भी फूट सकता है।
इस मधुरा गांव में तकरीबन आठ से दस सौ बिजली उपभोक्ताओं ने कनेक्शन लिया है। लाखों रुपये बिजली का बिल चुका रहे हैं। बावजूद इस के लोगों को राहत नहीं मिल रही है। बिजली कब चली जाएगी और कब आएगी इसका न तो कोई निर्धारित समय है और न ही रोस्टर ही जारी किया गया है। बिजली रहने के बाद भी लो वोल्टेज की वजह से लोगों को जूझना पड़ रहा है। जिन लोगों ने थ्री फेस कनेक्शन लिया है। उन्हें भी जनरेटर चलाकर अपना काम चलाना पड़ रहा है।और आप को बताते चलें कि इस पुरे गांव में मात्र एक ट्रांसफार्मर से उपभोक्ताओं को बिजली पूर्ति की जाती है, अफ़सोस की बात तो यह है केंद्र की सरकार से लेकर राज्य सरकार हर घर बिजली पहुंचाने की ढोल पिट रही है मगर विधुत अधिकारी के लापरवाही के कारण मधुरा के वार्ड संख्यां दो, तीन, पांच में अब तक बिजली नहीं पहुंचाई गई है। जिस कारण आज भी लोग दिया जलाने पर मजबूर हैं, स्कूली बच्चे आज भी दिया जला कर पढ़ाई कर रहे हैं। उपभोक्ता चार से पांच सौ मीटर की दुरी से बांस की खम्बे से वायर टांग कर अपने-अपने घरों में बिजली का उपयोग कर रहे हैं,फिर भी राहत नहीं मिल रही है। वार्ड संख्यां दो, तीन में तक़रीबन तीन चार साल पहले बिजली का खम्बा तो लगा दिया गया मगर नहीं तो ट्रांसफार्मर लगाया गया है न ही वायर दिया गया है।


जिस कारण लोग दूर-दूर से बांस के खम्बे के सहारे बिजली उपयोग कर रहे हैं। यह लापरवाही कभी भी किसी बड़ी दुर्घटना को दावत दे सकते हैं। जिला के आला अधिकारी इस ओर पहल कर अविलंब ट्रांसफार्मर लगाने हेतु पहल करें ताकि उपभोक्तओं को बड़ी समस्या से निजात मिल सके।

Comments

comments

x

Check Also

मुजफ्फरपुर:मोतीपुर से लापता युवक की पारु से शव बरामद

मोतीपुर,मुजफ्फरपुर से सुधीर कुमार की रिपोर्ट मोतीपुर थाना क्षेत्र के बरियारपुर रुदल गाँव के लापता युवक रंजन साह का शव ...