Home » Recent (Slider) » कुलसचिव के तुगलकी बयां के बाद अभाविप ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस,कहा शिक्षा के मंदिर को न बनाये अखाड़ा

कुलसचिव के तुगलकी बयां के बाद अभाविप ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस,कहा शिक्षा के मंदिर को न बनाये अखाड़ा

मधेपुरा प्रतिनिधि

 

आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा कल विश्वविद्यालय परिसर में घटित घटना को लेकर अभाविप नगर कार्यालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर घटना की कड़ी निंदा की है । इस अवसर पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शशि यादव जिला संयोजक अभिषेक यादव ने कहा है कि विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा हाल के दिनों में कई विवादित घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है जिस पर छात्र संगठन और छात्र संघ के पदाधिकारियों के द्वारा जब विरोध किया जाता है तो विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा गुंडे बुलाकर आक्रमक हमला करने का काम करता है । विश्वविद्यालय प्रशासन छात्रों के ऊपर केस कर अपनी तानाशाही रवैया को दर्शाने का काम किया है ।

नगर मंत्री नीतीश यादव ने कहा की  हाल के दिनों में बीएड फर्जीवाड़ा से लेकर कई फर्जीवाड़ा प्रति कुलपति महोदय की मिलीभगत से को दर्शाया गया है
विश्वविद्यालय में अंजाम दिया गया । लेकिन एक भी दोषियों पर कार्यवाही नहीं हुई और इसलिए विश्वविद्यालय कुलपति को कई महीने पहले पुलिस चौकी विश्वविद्यालय में लगाने को लेकर ज्ञापन दिया गया अभी तक कुछ नहीं हुआ । कल जिस प्रकार विश्वविद्यालय परिसर में घटना घटी यह पूरी तरह अवैध नियुक्ति का मामला बनता है विश्वविद्यालय परिसर द्वारा बिना सूचना दिए हुए किसी समाचार पत्रों में भी देना उचित नही समझा।

इस विद्यालय के कर्मचारियों के बाल बच्चियों से पैसा लेकर सभी पदों पर नियुक्ति करने के लिए इस प्रकार का गुपचुप तरीके से साक्षात्कार कर आयोजन किया गया ।इस दौरान विश्वविद्यालय छात्र संघ के पदाधिकारियों द्वारा प्रतिकुलपति से मिलकर इस बात की जानकारी लेनी चाहि कि आखिरकार किस आधार पर इस प्रकार की नियुक्ति को लेकर साक्षात्कार आयोजन किया जा रहा है इस पर छात्र संगठन द्वारा बातों को नहीं माना गया और छात्रों के साथ नोकझोंक शुरू हो गई। उपस्थित कुलसचिव महोदय द्वारा छात्रसंघ पदाधिकारियों को गाली गलौज और मारपीट शुरू कर दी गई उनके साथ उपस्थित अवैध गुंडों के सभी छात्रों पर हमला कर जिससे छात्रों को काफी चोट भी आई विद्यार्थी परिषद पूरी तरह से निंदा करती है।

दूसरी और कुलसचिव का ऐसा बयान आना की कलम के साथ लाठी भी उठाएं । इस तरह के बयान देकर पूरी तरह शिक्षा के मंदिर का मजाक उड़ाना हुआ जहां छात्र और शिक्षक एक परिवार की भांति रहे शिक्षा मे संस्कार देने की बात होनी चाहिए। यहां कुलसचिव महोदय हथियार उठाने की बात कर रहे हैं जो पूरी तरह निंदनीय है । मौके पर मौजूद नगर सह मंत्री अमोद कुमार जिला संगठन मंत्री उपेंद्र कुमार भरत सहित दर्जनो  छात्र उपस्थित थे ।

Comments

comments

x

Check Also

मधेपुरा : जब किसी ने नही सुनी समस्या तो लोगो ने बनायीं विकास कमिटी, किया समस्या का निदान

रंजीत कुमार सुमन कोसी टाइम्स @ मुरलीगंज, मधेपुरा । मुरलीगंज  के अति व्यस्त चौक मीरगंज जहाँ से कई जिलों को ...