Home » Recent (Slider) » अरे छोड़िए मोदी, लालू और नीतीश को, आइये मिल कर रोते हैं मधेपुरा के तक़दीर को….. 

अरे छोड़िए मोदी, लालू और नीतीश को, आइये मिल कर रोते हैं मधेपुरा के तक़दीर को….. 

प्रशांत कुमार

 

अरे छोड़िए मोदी, लालू और नीतीश को, आइये मिल कर रोते हैं मधेपुरा के तक़दीर को… उक्त बाते मधेपुरा के मोनी सिंह ने फेसबुक पर लिखकर जिले के बदतर रोड को दर्शाया है.मालुम हो की जिले के एन एच 107 ,पूर्वी बायपास और भी अन्य सड़क बिलकुल बदतर हो चुकी है.हर दिन छोटी बड़ी दुर्घटना आम बात सी है और इसमें अगर किसी के हाथ पैर टूट जाए तो बड़ी बात नही आसपास के लोग उसे ले जाकर प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कर देते है सरकारी इसलिए नही क्योकि मधेपुरा सदर अस्पताल बिहार का सबसे गंदा और अत्यंत कम सुविधा वाला है.इस बात को  बीते दिन स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव जी ने भी  माना था और अधिकारीयों को जमकर फटकार लगाया था.

जिले में कई तरह के परेशानी है लेकिन जितना परेशानी सड़क को लेकर है उतना किसी भी बात को लेकर नही.स्थानीय विधायक ,सांसद सहित मंत्री तक बात दर्जनों बार गयी हर कोई अपने स्तर से पुरजोर प्रयास भी किये लेकिन हालत यु ही है.एनएच 107 को लेकर लगभग हर अखबार ,हर पोर्टल और हर टेलीविजन चैनेल ने बड़े स्तर से कवरेज किया लेकिन स्थिति वहीँ है,अब लोग शोसल साइट्स का सहारा ले रहे है .बीते दिन जिले में मुसलाधार बारिश हुआ एनएच और नगर परिषद के कुकृत्य के चलते लोगों के घर में पानी लग गया .स्थानीय लोगों ने शोसल साइट्स का सहारा लिया और लिखा.अभी बीते दिन फिर से जिले में बारिश शुरू है .एनएच  के बीच बीच में 3 फीट गड्ढे है जिससे छोटी कार लगभग डूब जाती है जिसे जानकारी नही होती है वो तो घुसा देते है पानी में लेकिन जिसे जानकारी रहती वो ग्रामीणों की मदद लेकर गाडी को नाव के स्टाइल में पार करा लेते है.

अभी पूर्वी बायपास जिसका रोड बदतर हो चूका है.इसी रोड में बिहार सरकार के अत्यंत ही महत्वपूर्ण साथ निश्चय योजना में से एक योजना जो है कौशल विकास योजना का केंद्र है समिधा ग्रुप जहाँ जिले के हर कोने से युवा आते है और प्रशिक्षण पाते है.इसी रोड में जिले के प्रतिष्ठित कंप्यूटर प्रशिक्षण संस्थान गौतम इन्फोटेक,हीरो का शो रूम ,हौंडा का शो रूम ,बजाज शो रूम ,गौतम मेगा मार्ट ,इसके अतिरक्त इसी रोड में लगभग एक दर्जन से अधिक विभिन्न तरह के एक्सक्लूसिव शो रूम ,चिकित्सा संस्थान और दर्जनों शिक्षण  संस्थान है जहाँ इस बदतर रोड के चलते कार्य प्रभावित है.इसी रोड में स्थानीय संसद पापू यादव और पूर्व सांसद  शरद यादव जी का कार्यालय और आवास भी है.अब प्रशासन ,नेता और सरकार से लोग थक चुके है और शोसल साइट्स  पर मुहीम छेड़ खुद के आपसी सहयोग से रोड मर्रमती की बात कर रहे है.

मोनी सिंह ने पोस्ट लिखा है….. अरे छोड़िए मोदी, लालू और नीतीश को, आइये मिल कर रोते हैं मधेपुरा के तक़दीर को… कौन बदलेगा इस   को… हां शायद मेरे करण-अर्जुन आएंगे !  और कुछ लिखना है इस हालत पर ? जो मर्जी कह लीजिए जो मर्जी लिख लीजिए मगर ये तस्वीर ऐसे ही रहेगी। कुछ हाथ पैर टूटने दीजिये, कुछ सर फूटने दीजिए, एक-आध जानें जाने दीजिये तब कुछ बात बनेगी ! फिलहाल सभी जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक महकमों को दूसरे कामों में व्यस्त रहने दीजिए। मधेपुरा लोकसभा इलेक्शन के मद्देनजर महत्ववपूर्ण है ना कि आमलोगों के मूलभूत सुविधाओं के.. अभी मधेपुरा में बड़ी-बड़ी कम्पनियां और उनके पदाधिकारी आ रहे हैं, शायद वो यहां कई बड़े प्रोजेक्ट लाने की सोच भी रख कर आते होंगे मगर यहां की तस्वीर उन्हें कितनी आनंदित करती होंगी ये उन्हीं से पूछनी होगी ! फिलहाल गाना गाइये- आया सावन झूम के ….

निश्चित ही बिहार का यह जिला मधेपुरा राष्ट्रिय मानचित्र पर उकेड़ित है.चूँकि यहाँ विधुत रेल इंजन कारखाना है जिसे जापान की alstom कम्पनी बना रही है.इस एक कारखाना ने जिले को अंतराष्ट्रीय मानचित्र पर ला दिया है.इतने बड़े कारखाना लगने के बाद जिले में देश सहित विदेश से कई कंपनिया आ रही है और विभिन्न तरह के छोटे और बड़े उदोघ लगाने को सोच रहे है.कईयों ने तो पूर्व के जिलाधिकारी से मिल जगह का मांग किया था और काम शुरू करने की बात कही थी लेकिन जिले के बदतर हालत देख निश्चित ही वो ठहक  से जाते है.

मोनी सिंह के इस पोस्ट पर जो लोगों ने कमेन्ट किया है वो और भी पीड़ादायक है. अर्पणा सिंह चिंता जताते हुए लिखती है मधेपुरा सलामत रहे .प्रभाष चंद्रा जी लिखते है जब तक अव्यवस्था अपने चरम बिंदु पर नहीं पहुंचेगी सृजन की प्रक्रिया आरंभ नहीं होगी इसलिए कुछ देर इंतजार किजिए.संजय रवि लिखते है .. का से कहूँ दुखवा रे सखी ? जब सजनवाँ ही दे पीडवा रे सखी ।सेफ्टी जॉन जो एक सर्विस सेण्टर है वो लिखते है  मोनी भैया सरकार से कुछ नही होगा इनकी सुरुवात खुद कीजिए हम आपके साथ है जितने भी मधेपुरा में बिजनेसमैन है बाय पास रोड के सब मिल के रोड की रिपेरिंग करा देते है.मिथलेश वत्स लिखते है ईश्वर लापरवाह नेताओं के आत्मा को शांति प्रदान करें ! ॐ शांति।मो इक्रान यासीन लिखते है इसी रोड साइड में नेता जी लोग बड़े बड़े होर्डिंग लगवाते है उनको ये बदहाली नजर नही आता है क्या ? राजेश झा जी लिखते है  अब तो एक ही काम बचा है, जिनका घर रोड के बगल में है वो अपने सामने के रोड को बनवा दे।

पोस्ट रीच बहुत है कमेंट की भरमार है लेकिन यहाँ के स्थानीय लोग जो इस दंश को झेल रहे है मायूस है.वो कहते है अब क्या करे.निश्चित ही लोगों की समस्या बड़ी है.इसी तरह जीतपुर के नविन राज जी ने शोसल साइट्स पर एनएच 107 के खिलाफ पोस्ट लिखा है.वो लिखते है भगवान् का नाम लेकर ही इस रोड पर सफर करे.लोगों के कमेन्ट में स्थानीय नेता ,जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर भड़ास निकला गया है.

 

Comments

comments

x

Check Also

मधेपुरा : जब किसी ने नही सुनी समस्या तो लोगो ने बनायीं विकास कमिटी, किया समस्या का निदान

रंजीत कुमार सुमन कोसी टाइम्स @ मुरलीगंज, मधेपुरा । मुरलीगंज  के अति व्यस्त चौक मीरगंज जहाँ से कई जिलों को ...