Home » Recent (Slider) » साहित्य”मुझे प्यार करना आता है”

साहित्य”मुझे प्यार करना आता है”

मुझे प्यार करना आता है

मुझे प्यार करना आता है दिल दुनियां सजाना आता है।

टूटे  हुए  रिश्तों  को  धागे  में  पिरोना  आता   है।

कोसी टाइम्स

चाहे जितनी आंधी चले, चाहे जितने तूफान  उठे।

मझधार में फंसी नैया को किनारे पे लगाना आता है।

चाहे तुम मुझ से रूठ जाओ चाहे तुम मुझसे दूर जाओ,

रूठे  सनम  को  प्यार  से  मुझे  मनाना  आता  है।

कोसी टाइम्स

तुम कुछ न कहो अब चुप ही रहो, आँखों को भी बंद करो।

दिल से दिल का तार जोड़ फरियाद  सुनाना  आता  है।

लोगों ने कितने ताने दिए ढ़ेर सारे  अफसाने  बने,

गुजरा जमाना बस याद आता भूले नहीं भूलाता है।

डा सुधा सिन्हा 

पटना 

Comments

comments

x

Check Also

मधेपुरा : जब किसी ने नही सुनी समस्या तो लोगो ने बनायीं विकास कमिटी, किया समस्या का निदान

रंजीत कुमार सुमन कोसी टाइम्स @ मुरलीगंज, मधेपुरा । मुरलीगंज  के अति व्यस्त चौक मीरगंज जहाँ से कई जिलों को ...