Home » Recent (Slider) » मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष द्वारा अविश्वास प्रस्ताव,पूर्णियां के राजनीतिक दलो की है अपनी प्रतिक्रिया

मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष द्वारा अविश्वास प्रस्ताव,पूर्णियां के राजनीतिक दलो की है अपनी प्रतिक्रिया

 

**विपक्ष का कदम को महज पॉलिटिकल-युवा जदयू के प्रदेश सचिव अजीत भगत

**सरकार को पूरी तरह विफल-युवा कांग्रेस पूर्णिया लोकसभा अध्यक्ष जयवर्धन सिंह

**अच्छे दिनों का वादा केवल सपना-एनसीपी नेता तनवीर रजा

**अविश्वास प्रस्ताव से सरकार को कोई खतरा नही-क्षेत्रीय जिला परिषद असरारुल हक

**विपक्ष के सवालों के जवाब देना ही होगा-लोकतांत्रिक जनता दल के जिला अध्यक्ष निरंजन कुशवाहा

**सदन में असानी से बीजेपी बहुमत हासिल करगी-वार्ड सदस्य जिला अध्यक्ष सुमन सिंह 

संसद में मानसून सत्र के पहले दिन मोदी सरकार के खिलाफ टीडीपी की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा अध्‍यक्ष द्वारा स्‍वीकार किए जाना के बाद पक्ष और विपक्ष ने अपनी रणनीति बनाना शुरू कर दिया है. अध्‍यक्ष ने 20 जुलाई को अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के लिए दिन मुकर्रर किया है. कल इस पर चर्चा होगी और प्रधानमंत्री सदन में अपना पक्ष रखेंगे. इसके साथ इस प्रस्‍ताव पर वोटिंग भी होगी. केंद्र सरकार के खिलाफ विपक्षी दलों की तरफ से लाए गए ​अविश्वास प्रस्ताव पर इसी शुक्रवार को चर्चा कराए जाने के बाद मत विभाजन होगा.लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने इसके लिए मंजूरी दे दी है. अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए सात घंटे का समय तय किया गया है. खबरों के मुताबिक इस दिन प्रश्नकाल और गैर सरकारी कामकाज स्थगित रखा जाएगा और सिर्फ अविश्वास प्रस्ताव पर ही चर्चा होगी.इस मसले पर कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि विपक्षी दलों ने सरकार को घेरने की पूरी तैयारी की है और ‘नंबर गेम’ के लिहाज से विपक्ष काफी मजबूत है.कोसी टाइम्स के उप सम्पादक शहनवाज आलम  ने  अविश्वास प्रस्ताव के विषय में पूर्णिया जिला के कई राजनीतिक दल एंव जन प्रतिनिधि से बात की जिसने अपनी- अपनी प्रतिक्रिया दी.प्रस्तुत है उनके विचार उनके ही शब्दों में.

अविश्वास प्रस्ताव पर युवा जदयू के प्रदेश सचिव अजीत भगत का कहना है कि विपक्ष के इस कदम को महज पॉलिटिकल पॉश्चरिंग ही बताया है. इसको ज्यादा तवज्जो नहीं दीया जाए. दावा करते श्री भगत ने कहां कि अविश्वास प्रस्ताव के दौरान किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी.क्योंकि आंकडों के हिसाब से सरकार को किसी तरह का कोई खतरा नही है. सरकार स्पष्ट बहुमत हासिल करने में सफल रहेगी.आगे उन्होने कहा कि कांग्रेस कुनबे की बात करें तो कांग्रेस 48 सांसद से क्या अविश्वास प्रस्ताव लाएगी कांग्रेस अपने आप को जनता के सामने सिर्फ दिखावा कर रहा है.

युवा कांग्रेस पूर्णिया लोकसभा अध्यक्ष जयवर्धन सिंह ने मोदी सरकार पर लगे अविश्वाश प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह सरकार पांच साल भी ठीक से पूरी नही कर पा रही है इनके सहयोगी अलग हो के विपक्ष की भुमिका मे है. श्री सिंह ने सरकार को पूरी तरह विफल रहने का आरोप लगाया और कहा कि रोजगार, कृषि क्षेत्र में संकट, महिला सुरक्षा, लोकपाल की नियुक्ति नहीं होना, दलितों पर हमले और एससी-एसटी कानून को कमजोर करना, बैंकिंग क्षेत्र के घोटालों, जम्मू-कश्मीर की स्थिति, महंगाई, पेट्रोल डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी तथा आंध्र प्रदेश के लिए विशेष पैकेज की मांग पूरी नहीं होने के मुद्दे चर्चा के दौरान उठेंगे. और उन्होने कहा कि पिछले चार साल में प्रधानमंत्री और उनके मंत्रियों की जुमलों के अलावा कोई उपलब्धि नहीं है. जिस कारण से आज सरकार गिरने की स्थिति मे आ गई है.

अविश्वास प्रस्ताव लगने पर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए एनसीपी नेता तनवीर रजा ने ने कहा कि पिछले 4 वर्षों में विकास के कोई भी काम नहीं हुआ और अच्छे दिनों का वादा केवल सपना बनकर रह गया है. उन्होने ने कहा कि आज देश में किसान मर रहा है, मजदूर के पास काम नहीं है, युवाओं में बेरोजगारी बढ़ती जा रही है, जिस कारण से सरकार गिरने की स्तिथि में आ गई.

 

बैसा प्रखंड के क्षेत्रीय जिला परिषद असरारुल हक ने कहा कि विपक्ष द्वारा लगाए गए अविश्वास प्रस्ताव एक तरह से अपनी बात कहने की रणनीति है, इस अविश्वास प्रस्ताव से सरकार को कोई खतरा कहीं से भी नजर नही आती है, पहले भी अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था पर कभी भी सरकार नही गिरी, बस अपनी बात को कहने की कोशिश के नजरिए एवं एकजुटता दिखाने, और सत्ता पक्ष की कमजोरी तलाश में ये अविश्वास प्रस्ताव लाने का मकसद नजर आ रही है, और सरकार को विपक्ष की सवालों के जवाब देने होंगे वहीं देश को सही जानकारी मिल सकेगी.

लोकतांत्रिक जनता दल के जिला अध्यक्ष निरंजन कुशवाहा बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हूए कहा कि रोजगार, कृषि क्षेत्र में संकट, महिला सुरक्षा, दलितों पर हमले और पेट्रोल डीजल के दामों में बढ़ोतरी,बीजेपी सरकार के इस चार साल में जनता पुरा ठगा सा महसुस कर रहा हैं. अविश्वास प्रस्ताव लाने का मकसद सरकार को विपक्ष के सवालों के जवाब देना हो होंगे तब देश की जनता को सही जानकारी मिल सकेगी.

वार्ड सदस्य जिला अध्यक्ष सुमन सिंह का कहना है कि बिन मौसम बरसात वाली कहानी है जब काम सही हो या गलत विपक्ष का काम रहता ही है बाधा पहुँचाना यह राजनीतिक रोटी सेकने का मौसम है भला विपक्ष ऐसा मौका कैसे छोड़ देगा। जबकि विपक्ष का काम होता है कि आगे वाले को आईना दिखाते रहना .उन्होने कहां कि अविश्वास प्रस्ताव से बीजेपी को कोई खतरा नहीं हैं. सदन में असानी से बीजेपी बहुमत हासिल कर लेगें.

Comments

comments

x

Check Also

मधेपुरा : जब किसी ने नही सुनी समस्या तो लोगो ने बनायीं विकास कमिटी, किया समस्या का निदान

रंजीत कुमार सुमन कोसी टाइम्स @ मुरलीगंज, मधेपुरा । मुरलीगंज  के अति व्यस्त चौक मीरगंज जहाँ से कई जिलों को ...