Home » Breaking News » सुपर 30 के आनंद कुमार देर रात थाना पहुंच किया हाई वोल्टेज ड्रामा ,पुलिस ने एक न सुनी

सुपर 30 के आनंद कुमार देर रात थाना पहुंच किया हाई वोल्टेज ड्रामा ,पुलिस ने एक न सुनी

प्रशांत कुमार 

 

पूर्व डीजीपी अभयानंद को शोशल साइट्स पर बदनाम करने के पोस्ट वायरल करने वाले दूसरे सख्श को पुलिस ने आगमकुंआ क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया।दरसअल यह गिरफ्तारी जितेंद्र कुमार की हुई थी जो आनंद कुमार के कर्मचारी थे।इस मामले का कांड संख्या 83/18 है।

इस बात की जानकारी जब आनंद कुमार लगी तो देर रात खुद से थाना पहुंच जमकर ड्रामेबाजी और हंगामा किया लेकिन पुलिस ने सत्यता परख गिरफ्तारी की थी उसकी एक न सुनी और जेल भेज दिया।आनंद कुमार ने अंत मे यह तक कह डाला कि अगर पुलिस ने उसे नही छोड़ा तो आत्महत्या कर लूंगा।

क्या था मामला

इस गिरफ्तारी से पूर्व भी एक की गिरफ्तारी हो चुकी है।बीते कुछ दिनों से शोशल मीडिया पर एक अफवाह उड़ाई जा रही थी बिहार के पूर्व डीजीपी अभ्यांनाद गौरखधंधे करके विदेशों में करोड़ो की समाप्ति अर्जित किये है।पुलिस ने इस संबंध में जब तफ्तीश शुरू किया तो मामला झूठ निकला और फिर पुलिस ने इस फर्जी कार्य के पीछे के लोग को गिरफ्तार करने हेतु छापेमारी जारी किया।जितेंद्र के गिरफ्तारी से पूर्व भी एक व्यक्ति आदित्य की गिरफ्तारी हो चुकी है और रात में एक और कि गिरफ्तारी हो गयी जिसे आनंद कुमार छुड़ाने थाना पहुंच गए।जितेंद्र को आगमकुंआ पुलिस ने गिरफ्तार किया था जिसे बाद में कोतवाली थाना पहुंचाया गया।

आनंद कुमार थाना खुद से पहुंच जमकर ड्रामा किया और अपने हर तिकड़म लगाए कि पुलिस उसे छोड़ दे लेकिन पुलिस ने उसे नही छोड़ा और उसे हंगामा बन्द कर अपना कार्य करने की हिदायत दी।हालांकि देर तक हाई वोल्टेज ड्रामा आनंद कुमार करते रहे कि किसी तरह पुलिस जितेंद्र को छोड़ दे।अंततः आनंद कुमार ने यहां तक कह डाला कि अगर पुलिस को जितेंद्र नही छोड़ता है तो वो आत्महत्या कर लेंगे।

इस गिरफ्तारी से आनंद कुमार इस कदर बौखला गए कि कोतवाल रमाशंकर प्रसाद पर झूठ बोलने और फर्जी केस में फंसाने का आरोप भी लगाया. कोतवाल उनके सामने कहते रह गये कि जितेंद्र ने गलती की है, उनके पास तकनीकी साक्ष्य उपलब्ध हैं उनके पास लेकिन वो नहीं मानें. काफी देर तक दोनो ओर से बहस किया जाता रहा . उन्होंने कोतवाल को देख लेने तक की धमकी दे डाली . इस पर कोतवाल की तरफ से चेताया गया कि वह नियम कानून के दायरे में रहकर बात करें.  कोतवाल से हो रही अभद्रता को देखते हुए सभी स्टाफ भी आनंद कुमार के विरोध में आ गये. जमकर बहसबाजी हुई. काफी देर तक चली इस बहस के बाद आंनद कुमार वहां से निकल लिए.

कोतवाल ने बताया कि इस संबंध में आनंद कुमार पर सरकारी कार्य मे बाधा डालने और अभद्रता करने का मामला दर्ज किया जा रहा है।

 

 

Comments

comments

x

Check Also

सहरसा अंचल के वरीय लिपीक का रिश्वत लेते विडियो वायरल, निलंबित

**जिलाधिकारी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल प्रभाव से किया निलंबित राजेश कुमार डेनजिल कोसी टाइम्स@सहरसा जिले के ...