Home » Breaking News » बीएड प्रकरण मे हुए धांधली को लेकर एबीभीपी मधेपुरा के कार्यकर्ता ने फूंका प्रोवीसी का पुतला

बीएड प्रकरण मे हुए धांधली को लेकर एबीभीपी मधेपुरा के कार्यकर्ता ने फूंका प्रोवीसी का पुतला

meraj alm kosi times

मो०मेराज आलम
कोसी टाइम्स@मधेपुरा

हमेसा चर्चा के विषय मे बने रहने वाले बीएनमयु लागातार चर्चा का विषयों मे सुमार होता जा रहा है लगातार एक के बाद एक मामला तूल पकड़ता जा रहा है! आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा टीपी कॉलेज बीएड नामांकन फर्जीवाड़े में प्रतिकुलपति की मिलीभगत तथा आरोपियों को बचाकर गलत रिपोर्ट तैयार कर निर्दोष को फंसाने में लगे हुए हैं। कई बीएड के छात्रों के भविष्य को बर्बाद करने मे लगे हुए हैं। इसलिए विभिन्न परीक्षा परिणामों में व पेंडिंग रिजल्ट का जल्द तैयार ना होना इस बात की गवाही है।  विश्वविद्यालय प्रशासनिक व्यवस्था चरमरा गई है और इसलिए विद्यार्थी परिषद विभिन्न मुद्दों को लेकर प्रतिकुलपति डॉ फारुख अली का आज पुतला फूंक कर आंदोलन का शंखनाद किया ।

नगर मंत्री नीतीश यादव के नेतृत्व में पुतला दहन का कार्यक्रम का आयोजित किया गया।  विभाग संयोजक रंजन यादव व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शशि यादव ने कहा है कि आज बीएनएमयू पूरी तरह अराजकता एवं भ्रष्टाचार की स्थिति में डूब चुकी है। प्रति कुलपति महोदय पूरी तरह विश्वविद्यालय के धंधेबाजों एवं फर्जीवाड़ा और लुटेरों का संरक्षक बनकर पूरी तरह धंधेबाजों को बचाकर बीएड कार्यो में बाधा पहुंचा रही हैं ।
पूर्व में आर एम कॉलेज सहरसा में भी बीएड नामांकन फर्जीवाड़ा हो जहां कम अंक वाले प्राक्टर के पुत्र के नामांकन का आदेश पैसे की मिलीभगत से की तथा बाद में प्राचार्य द्वारा कम अंक में नामांकन नहीं लिया तो प्राक्टर द्वारा प्राचार्य को मारपीट तथा अभद्रता से बात किया लेकिन प्राक्टर होने के नाते अपनी मर्यादा नहीं भूलनी चाहिए। इसलिए कार्यवाही के बदले प्राचार्य को तुरंत निलंबित करने का फैसला जैसे करवाई कर डाला ।विश्वविद्यालय द्वारा प्राक्टर को संरक्षण देकर जिस निर्णय का छात्रों के विरोध पर वापस लिया गया इस पर सवालिया निशान खड़ा होता है प्रो वीसी साहब संदेह के घेरे में हैं ।

इस अवसर पर केंद्रीय कार्यसमिति सदस्य दिलीप कुमार दिल,विराट राज, चंदन कुमार, उपेंद्र कुमार ने कहा है कि बीएनएमयू प्रशासन छात्रों के भविष्य को बर्बाद करने का बीड़ा उठा चुकी है। इसी का उदाहरण है बीएनएमयू पूर्णिया विश्वविद्यालय विवादों में उलझकर हजारों छात्रों के स्नातक पार्ट वन के छात्रों का परीक्षा को रोक देना ।साथ ही आर एम कॉलेज के बाद प्रति कुलपति  टीपी कॉलेज में बीएड नामांकन फर्जीवाड़ा से सभी फर्जीवाजों एवं भ्रष्टाचारियों दलालों का संरक्षण बनकर उसे बचाने के लिए अनर्गल रिपोर्ट बना दी।  निर्दोष आज इस मामले को उजागर करवाने वाले कर्मचारी पर ही करवाई कर दी। जबकि यहां भी प्रतिकुलपति महोदय के आदेश से ही फर्जी नामांकन लिया गया है। बीएड नामांकन बड़े पैमाने पर फर्जी नामांकन व पैसे के खेल में विश्वविद्यालय प्रशासन के साथ ही प्रतिकुलपति की भी अपना परवाह किए बगैर भ्रष्टाचार में संलिप्तता दिखाई पड़ रही है। जिसके कारण निर्दोषों को कारवाई कर दलालों को बचाई जा रही है। एबीवीपी इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। आज से आंदोलन का आगाज होता है और अगर निर्दोषों को छुड़ाकर दलालों को अगर सजा नहीं मिलती है तो विद्यार्थी परिषद चरणबद्ध आंदोलन करेगी। इस अवसर पर अमोद कुमार,सौरभ कुमार यादव इत्यादि मौजूद थे ।

Comments

comments

x

Check Also

सहरसा अंचल के वरीय लिपीक का रिश्वत लेते विडियो वायरल, निलंबित

**जिलाधिकारी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल प्रभाव से किया निलंबित राजेश कुमार डेनजिल कोसी टाइम्स@सहरसा जिले के ...