Home » अन्य राज्य » सहरसा:सात दशक बीतने पर भी अस्पताल विहीन महुआ बाजार

सहरसा:सात दशक बीतने पर भी अस्पताल विहीन महुआ बाजार

**बारह से पन्द्रह पंचायतों का  मुख्य बाजार होने के वाबजूद नही है अस्पताल

राज आर्यन गुड्डु

कोसी टाइम्स@महुआ बाजार,सहरसा 

आजादी के सात दशक बीतने के बाद भी महुआ बाजार अस्पताल विहीन है। जहां लगभग 50000 आबादी वाला इस इलाके के लोग अस्पताल की आस में महरूम है । जबकि महुआ बाजार 12 से 15 पंचायतों का यह पुराना एवं मुख्य बाजार है और महुआ बाजार में ही बसनही थाना भी स्थित है।लेकिन विडम्बना तो ये है कि यहां पर  एक प्राथमिक स्वस्थ केंद्र तक नही है और  इस इलाके के लोग आज भी लगभग 20 से 25 किलोमीटर दूर  सोनवर्षा राज इलाज कराने के लिए विवश है।  कई बार तो ऐसा देखा गया है कि मरीज इलाज के लिए सोनवर्षा राज ले जाने के दौरान रास्ते में ही दम तोड़ कर अपनी देख लीला समाप्त कर चुके हैं । लेकिन आज तक अस्पताल की दिशा में कोई भी राजनीतिक दल के विधायक सांसद कोई ठोस पहल नहीं किया। सिर्फ चुनाव के समय ही  इस इलाके के लोगों से  अन्य सुविधाएं देने के वायदे करके भोली-भाली जनता से वोट लेकर। विधानसभा और संसद में पहुंचकर अपना उल्लू सीधा करने का काम किये हैं । आज तक इस इलाके में इतनी बड़ी आबादी के लिए कोई  सुविधा उपलब्ध कराने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। आगामी लोकसभा चुनाव में यहां के मतदाताओं ने मुंहतोड़ जवाब देने के लिए अभी से ही मन बनाये नजर आ रहे हैं। अगर समय से पहले विधायक या सांसद अस्पताल की दिशा में कोई कारगर कदम नहीं उठाती है, तो इसका खामियाजा भुगतने के लिए उनको अभी से ही तैयार होना होगा ।अस्पताल की मांग कई बार महुआ बाजार के स्थानीय लोग नंदन साह,सुरेश भगत ,भातु स्वर्णकार, सोनवर्षा पूर्वी के भाजपा उपाध्यक्ष एन पी गुप्ता , भाजपा पंचायत अध्यक्ष अमर सिंह जी,   डी एन सिंह , केदार मंडल ,अरुण अग्रवाल, मुन्ना जायसवाल  आदि लोगों ने कहा कि स्थानीय विधायक और सांसदों से किया लेकिन अस्पताल की दिशा में सिर्फ आश्वासन मात्र मिल कर रह गया।

Comments

comments

x

Check Also

मधेपुरा में जनाधिकार पाटी के कार्यकर्ताओं ने किया मुख्यमंत्री का पुतला दहन

मो० मेराज आलम कोशी टाइम्स @ मधेपुरा जन अधिकार छात्र परिषद के जिला अध्यक्ष रौशन कुमार बिट्टू एवम विश्विद्यालय अध्यक्ष अमन ...