Home » Breaking News » जर्मनी की जमीं पर कहानी-कविता उगा रहे हैं बिहार के अनंत

जर्मनी की जमीं पर कहानी-कविता उगा रहे हैं बिहार के अनंत

आशीष कुमार । कोसी टाइम्स.

बिहारी की माटी ने कई धुरंधर साहित्यिक प्रतिभाओं को पैदा किया है। साहित्यिक रूप से बिहार की माटी काफी उर्वर रही है। इसी माटी में रामधारी सिंह दिनकर, फणीश्वरनाथ रेणु, बाबा नागार्जुन जैसे कितने साहित्यकारों ने अपनी अपनी कहानी कविताओं की खेती की है। अब इसी मिट्टी में पला बढ़ा एक बिहारी अपने देश से सात समंदर पार जर्मनी की जमीं पर कलम चलाकर कहानी कविताओं की फसल उगा रहा है।

70 के दशक के आखिरी वर्ष में बिहार के कटिहार में पैदा हुए अनंत कुमार आज अपनी प्रतिभा की बदौलत जर्मन साहित्य के फलक पर सूरज सा चमक रहे हैं। अनंत का बचपन कटिहार की गलियों में खेलते-कूदते गुजरा। लेकिन उनकी प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा मोतिहारी में हुई जहां उनके पिताजी स्थानीय मुंशी सिंह कॉलेज में प्रोफेसर थे।

फिलवक्त जर्मनी के कैसल में रह रहे है अनंत ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से जर्मन साहित्य में मास्टर किया है। वे अपनी साहित्यिक रचनाओं के माध्यम से विदेशियों के अनुभवों को भारतीय सभ्यता संस्कृति से जोड़ रहे हैं।उनकी Foreign Woman Foreign Man व Zeru- A Severn Day Story जैसी कृति के साथ साथ Berlin Bombay नाॅवेल भी जर्मनी में पाठकों के बीच काफी लोकप्रिय है। उन्होंने बच्चों के लिए भी ढेर सारी कहानी कविताएं लिखे हैं। अपनी रचनाओं के माध्यम से वे बच्चों के बीच भी काफी लोकप्रिय हैं। साहित्य के क्षेत्र में योगदान के लिए अनंत कुमार को जर्मनी में बहुत सारे अवार्ड भी मिले हैं।

जर्मन साहित्य की दुनिया में इतनी प्रसिद्धि के बाद भी अनंत कुमार के अंदर बिहार बचा व बसा हुआ है। Bihar Fraternity Germany के संस्थापक प्रकाश शर्मा बताते हैं कि हम लोगों की तरफ से जर्मनी में होने वाले विभिन्न आयोजनों में अनंत जी की सक्रिय भागीदारी रहती है। इन आयोजनों को लेकर उनका मार्गदर्शन मिलता है। 26 मई को बर्लिन में आयोजित होने जा रहे बिहार दिवस पर जर्मनी में रह रहे सभी बिहारियों के बीच वे भी एक सहभागी और मार्गदर्शक के रुप में मौजूद रहेंगे।

Comments

comments

x

Check Also

कटिहार:कोढ़ा में भी हर्षोल्लास के साथ मनाया गया स्वतंत्रता दिवस,ग्राम सभा का हुआ आयोजन

तौक़ीर रज़ा कोसी टाइम्स@कटिहार आज पूरे देश सहित कटिहार जिले के साथ-साथ कोढ़ा प्रखण्ड के मधुरा पंचायत भवन में मुखिया ...