Home » Others » कटिहार:आजादी के बाद भी मूलभूत सुविधा से वंचित है टुपकिया ग्रामवासी,जहाँ न सड़क है न बिजली

कटिहार:आजादी के बाद भी मूलभूत सुविधा से वंचित है टुपकिया ग्रामवासी,जहाँ न सड़क है न बिजली

रतन यादव

कोसी टाइम्स@हसनगंज,कटिहार

एक और जहां पूरे जिले में सरकार द्वारा सात निश्चय योजना के तहत गली नाली पक्कीकरण की योजना पर योजना पारित हो रही है, वहीं दूसरी तरफ हसनगंज प्रखंड का एक गांव ऐसा भी है जहां पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों की पहुंच नहीं हो पा रही है.

हसनगंज प्रखंड मुख्यालय स्थित जगन्नाथपुर पंचायत का टुपकिया गांव जो आज भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित है, गली नाली पक्कीकरण की बात कौन करे, यहां तो लोगों को आवागमन के लिए रास्ता भी नहीं है. हजारों की आबादी से बसा यह गांव आज भी संसाधन के अभाव से जूझ रहा है .यहां के लोग जिल्लत भरी जिंदगी जीने को विवश हैं .सड़क विहीन इस गांव के लोग खेतों के मेड़ से आवागमन करने को मजबूर हैं. स्थानीय लोगों ने बताया कि जब जमींदार खेतों की बुआई कर लेते हैं ,तो आवागमन करने में और भी परेशानी बढ़ जाती है.

इसी प्रकार अगर आवागमन करने के दरमियान फसल का नुकसान हो जाता है तो जमींदार की हजार गाली हम ग्रामीणों को सुननी पड़ती है. वहीं गुरुवार को गांव में अचानक एक वृद्ध की तबीयत बिगड़ जाने से और एंबुलेंस पहुंचने का कोई साधन नहीं नजर आने पर लोग परेशान होकर पंचायत के पूर्व मुखिया सह वर्तमान मुखिया प्रतिनिधि मोहम्मद उस्मान गनी और पंचायत समिति सदस्य मोहम्मद अजीमुद्दीन को मदद के लिए बुलाया, जब तक पंचायत प्रतिनिधि आते तब तक लोग मरीज को चारपाई पर सुलाकर चार कंधों की मदद से स्वास्थ्य केंद्र ला रहे थे कि अचानक गांव में पंचायत प्रतिनिधियों को देखते ही भड़क उठे और उनका घेराव कर ग्रामीणों ने जमकर भड़ास निकाली.

महिलाओं ने भी खूब खरी खोटी सुनाई. नवाब शरीक, मोहम्मद सलाम, गफ्फार आलम, मोहम्मद आमिर, मोहम्मद सलीम आदि ग्रामीणों ने बताया कि इस गांव में बिजली ,शुद्ध पेयजल, चापाकल, शौचालय, आंगनबाड़ी केंद्र, पाठशाला जैसी कई मूलभूत सुविधाए आज भी नहीं है ,बच्चों को उच्च शिक्षा नहीं मिल पा रही है. शिक्षा के अभाव में लोगों को जीविकोपार्जन हेतु दूसरे राज्यों में पलायन करना पड़ता है ,यहां तक कि गर्भवती महिलाएं और गंभीर पेशेंट को अस्पताल तक ले जाने के लिए चारपाई का उपयोग करना पड़ता है, वहीं ग्रामीणों ने प्रतिनिधियों को फटकार लगाते हुए कहा कि अगर अब चुनाव से पहले सड़क नहींं बनता है तो हम लोग चुनाव का बहिष्कार करेंगे, यानी पहले रोड तब वोट. जीविकोपार्जन के लिए बनाते हैं बीड़ी

स्थानीय ग्रामीणों में बीवी तारा, बीवी बिलकिश, बीबी हाजरा, शबाना खातून ,मदेशरा खातून सहित दर्जनों महिलाओं ने बताया कि रास्ते के चलते बाहर गांव से रिश्ता तक नहीं आ पाता है. मर्द लोग जीवकोपार्जन को लेकर बाहर चले जाते हैं. हम महिलाएं व बच्चे मिलकर पेट की भूख मिटाने को लेकर जीविकोपार्जन हेतू बीड़ी बनाते हैं. कभी नहीं आते हैं पदाधिकारी व नेतागण

आक्रोशित ग्रामीणों ने बताया कि ऐसे पिछड़े गांव की पदाधिकारी भी सुधि लेने नहीं पहुंचते हैं. भले ही सरकार व स्थानीय प्रशासन सुशासन की बात करता हो, लेकिन इस गांव की स्थिति यह दर्शाती है कि विकास तो दूर गांव में आवागमन तक के रास्ते नहीं है. जनप्रतिनिधि वह नेतागण चुनाव के समय ही इस क्षेत्र में दिखते हैं,तथा बड़े-बड़े वादे कर निकल जाते हैं. स्थानीय लोगों ने कहा कि आगामी चुनाव में हम लोग मतदान का पूर्णरूपेण बहिष्कार करेंगे ,और आने वाले समय में प्रखंड सहित जिले का भी घेराव करेंगे.

Comments

comments

x

Check Also

बनमनखी में कल काझी के भागवत् कथा में मनाना जाएगा श्रीकृष्ण जन्मोत्सव

सोहन कुमार कोसी टाइम्स@बनमनखी,पूर्णियां बनमनखी अनुमंडल के काझी हृदयनगर पंचायत के राजपूत टोला लक्ष्मी स्थान मंदिर प्रांगण में चल रहा ...