Home » Recent (Slider) » एक खूबसूरत याद रह जाए, कुछ इस तरह वेलेंटाइन डे मनाएं

एक खूबसूरत याद रह जाए, कुछ इस तरह वेलेंटाइन डे मनाएं

रीमा आनंद। कोसी टाइम्स

ये सच है कि प्यार किसी जाति धर्म मजहब, ऊंच नीच, अमीर गरीब की दीवारों को नहीं मानता। लेकिन यह भी उतना ही सच है कि अब शिद्दत से प्यार निभाने का वो जमाना न रहा। अब प्यार बाजारवाद की भेंट चढ़ गया है। फिर भी प्यार का जमाना कभी नहीं होगा पुराना। इसलिए तो एक दिन ही सही प्यार के नाम घोषित तो है। जिस तरह हर काम को करने की तारीख और समय तय है उसी तरह प्यार के लिए भी एक दिन मुकर्रर है। हर प्रेमी इस तारीख को बेहतर से बेहतरीन बनाने की कोशिश में रहता है। फरवरी महीने की 14 तारीख हर प्यार करनेवालों के जीवन में बहुत मायने रखता है।

कैसे हुई इस तारीख की शुरुआत

14 फरवरी 269 को रोम के राजा ने प्यार के मसीहा वेलेंटाइन को फांसी की सजा दी थी। क्योंकि उन्होंने राजा की आज्ञा को ठुकराया था। राजा ने देश में विवाह को वर्जित किया था। उनका मानना था कि शादी करने के बाद लोग किसी काम के नहीं रहते। संत वेलेंटाइन ने न सिर्फ लोगों को शादी करने को प्रेरित किया बल्कि स्वयं भी प्यार में पड़कर जेल में ही विवाह करने की ठानी। इस बात से चिढ़कर राजा ने उन्हें फांसी पर लटका दिया। प्यार का संदेश देनेवाले साधारण से वेलेंटाइन को संत की उपाधि मिली। भारत में इस दिन की शुरुआत 1992 में हुई थी।

प्यार के इस दिन की अनोखी बातें

पूरी दुनिया में 10 करोड़ से भी अधिक वेलेंटाइन्स कार्ड भेजे जाते हैं।

पहला वेलेंटाइन्स डे पत्र संत वेलेंटाइन ने अपनी प्रेमिका को लिखा।

दुनिया का पहला वेलेंटाइन कार्ड सन 1541 में भेजा गया था।

मैक्सिको में वर्ष 2010 के वेलेंटाइन्स के दिन एक साथ 39897 जोड़ों ने किस किया जो वर्ल्ड रिकॉर्ड बन गया।

 

एक सप्ताह तक जश्न सा माहौल

अब तो इस तारीख के एक सप्ताह पहले से ही एक न एक खास दिन मनाया जाने लगा है। इन खुशनुमा दिनों की शुरुआत होती है 7 फरवरी से और अंत होता है सबसे हसीन वेलेंटाइन डे पर। हर दिन के लिए एक खास नाम है। जिसे अपने अपने अंदाज में हर कोई मनाता है।

जानें किस नाम से है प्रसिद्ध कौन सी तारीख

7 फरवरी, रोज डे- प्यार के सप्ताह की शुरुआत रोज डे के साथ होती है। इस दिन प्यार करने वाले प्रेमी- प्रेमिका एक-दूजे को रोज (गुलाब) देकर अपने प्यार का इजहार करते हैं। इस दिन जिसे पसंद करते हों उसे गुलाब दे सकते हैं।

8 फरवरी, प्रपोज डे- प्यार के सप्ताह का दूसरा दिन प्रपोज डे के नाम से मशहूर है। इस दिन अपने दिल में जिसकी सूरत बसी हो उसे प्रपोज करने का बेहतरीन मौका है। जो पहले से प्रेमी युगल है वे भी दिलचस्प तरीके से इस दिन को इंजॉय करते हैं।

9 फरवरी , चॉकलेट डे- चॉकलेट डे के रूप में इस सप्ताह का तीसरा दिन मनाया जाता है। युवा ही नहीं बच्चे-बूढ़े हर कोई इस दिन को मनाता है। मीठे-मीठे चॉकलेट्स खिलाकर प्यार के इस पावन रिश्तों में मिठास घोली जाती है।

10 फरवरी, टेडी डे- प्यार के इस सप्ताह की चौथी कड़ी टेडी डे के नाम से जानी जाती है। इस दिन अपने चाहनेवाले को उपहार के रूप में आकर्षक टेडी दी जाती है। पूरी दुनिया में टेडी सबसे अधिक बिकने वाला खिलौना है। इस खास मौके पर इसकी डिमांड दोगुनी हो जाती है।

11 फरवरी, प्रॉमिस डे- वेलेंटाइन्स वीक का पांचवां दिन प्रॉमिस डे के रूप में मनाने का रिवाज है। इस दिन हर प्रेमी जोड़ा एक दूसरे का साथ आजीवन देने की प्रॉमिस करता है। विश्वास की डोर कभी न टूटने की, एक-दूजे के प्रति हमेशा वफादार बने रहने का वचन लिया और दिया जाता है।

12 फरवरी, हग डे- सप्ताह का छठा पायदान हग डे के नाम से प्रचलित है। यह दिन हर प्यार करने वालों के लिए बड़ा खास होता है। क्योंकि कहते हैं बांहों में भरने से दो लोग और करीब आते हैं। प्यार के इजहार का यह बेहतरीन तरीका है।

13 फरवरी, किस डे- वेलेंटाइन डे के ठीक एक दिन पहले किस डे मनाया जाता है। यह पूरे सप्ताह का सबसे रोमांटिक दिन माना जाता है। यह दिन अपने साथी को खुलकर प्यार करने और अपने बीच के रिश्ते को और गहरा करने का अवसर देता है। हर प्रेमी जोड़े को यह दिन शानदार तरीके से मनानी चाहिए ताकि यह यादगार बन जाये।

14 फरवरी, वेलेंटाइन डे- आखिर में प्यार करनेवालों के लिए यह दिन एक खूबसूरत सौगात के रूप में आता है। फरवरी महीने के शुरू होने से पहले ही वेलेंटाइन्स डे का हर प्रेमी जोड़ा बेसब्री से इस दिन का इंतजार करता है। इस दिन अधिक से अधिक एक दूसरे के साथ समय बिता कर अपने प्यार को और गहरा होने का मौका देना चाहिए। इस हसीन दिन को बेहतरीन अंदाज में मनाने की कोशिश करें ताकि फिर कोई अफसोस न रह जाये।

Comments

comments

x

Check Also

Tribhuvan International Airport (TIA) Nepal Runway Dangerous-Senior BJP Leader Vijay Jolly

Raju Lama Nepal Senior BJP Leader Vijay Jolly in a urgent communication to Nepal Prime Minister Shri. K.P. Sharma ‘Oli’ ...