Home » Breaking News » कोसी टाइम्स : उम्मीदों के सफर के तीन बेमिसाल बरस !

कोसी टाइम्स : उम्मीदों के सफर के तीन बेमिसाल बरस !

प्रिय पाठकों,
सलाम-नमस्ते !

तीन साल की अवधि कोई बहुत बड़ी अवधि नहीं होती है…. लेकिन यह छोटी अवधि ही कोसी ईलाके के इतिहास में एक उपलब्धि की गवाह बन चुकी है। जी हां, 2015 के जनवरी माह में 14 तारीख को ही, www.kositimes.com ने आपकी नजरों के सामने एक उम्मीद भरी ऑनलाइन सफर की शुरूआत की थी। हमें इल्म था कि आगाज कठिनाईयों भरी होगी ,पर हमें आप सबों के साथ का अंदाजा भी था,उम्मीद भी थी….और इसी उम्मीद व विश्वास के बूते हम कठिनाईयों भरी सामाजिक सरोकारिता के ऊबड़-खाबड़ राहों पर निकल पड़े।धीरे-धीरे अनेक ऊंगलियों ने इंटरनेट पर www.kositimes.com दबाना आरंभ कर दिया….और यह आप सबों की दुआओं का ही असर है कि मधेपुरा, सहरसा, सुपौल और आसपास की खबरों के लिए बिहार के बाहर देश के अन्य हिस्सों व विदेशों में बसनेवाले कोसी के बाशिंदों की पहली पसंद कोसी टाइम्स डॉटकॉम ही है।

प्रिय कोसीवासीयों, नया साल …नयी उम्मीदों और नयी आकांक्षाओं-अपेक्षाओं को अपने साथ लेकर आता हैं। एक सफर शुरू होता हैं ख्वाबो का, हम में से हर कोई अपने आप से कुछ वायदे करते है……. और हमारे फौलादी इरादे मुश्किलों से भरे उबड़-खाबड़ रास्तों पर चलकर बचते-बचाते हमारे कुछ ख्वाबो को मंजिल तक ले ही आते है। मील का पत्थर कभी कही नहीं जाता है ,लेकिन राही सही हो तो मंजिल चलकर पास आ ही जाती है। पूस की कंपकपाती सर्द रातों में हमारे ख्वाब ही हमें गर्माहट देते हैं। हमें कुछ ख्वाबो के साथ सफर शुरू करना ही होता है …फिर लोग साथ आते जाते हैं और कारवां बनता जाता है। हम जानते है की इस सफर में कुछ ख्वाब अधूरे रह जाएँगे ,कुछ खाव्ब पुरे होंगे ,पर हमें हर हाल में और हर हालात में चलते रहना है क्योंकि चलते रहना ही जिंदगी है ….Keep walking….चरैवेती …चरैवेती …..

वक़्त का तकाज़ा है तूफां से जूझो ,
आखिर कब तक चलोगे किनारे –किनारे.

इसी उम्मीद के साथ हमने कोसी टाइम्स www.kositimes.com की शुरुआत की थी। यह अखबार नहीं बल्कि एक आंदोलन है… कोसी क्षेत्र के समग्र और संपूर्ण विकास में भागीदार बनने की… एक सपना है, कोसी की तरक्की के वास्ते हरदम आपके साथ कदम से कदम मिलाकर चलने की। ”कोसी टाइम्स” के रूप में हमने एक बीज बोया है विश्वास का..आपके–हमारे..हम सब के सुख –दुःख के एहसास का, क्योंकि कोसी नदी का कछार करोड़ों कोसिवासियों के लिए जीवनदायिनी भी है तो बरसात में यही बिहार का शोक बनकर जानलेवा बाढ़ भी लाती है, पर हमारी कोसी हमें संबल और सन्देश भी देती है हरदम बहते रहने का… हरदम चलते रहने का, चाहे वक़्त कैसा भी हो! कोसी टाइम्स रूपी बीज को हम सब अपनत्व से सींच कर वटवृक्ष बनाने की कोशिश करेंगे।हमारा प्रयास होगा कि सामाजिक बदलाव, शैक्षणिक बदलाव की बयार कोसी क्षेत्र में चले और कोसी टाइम्स एक तटस्थ वाहक की भूमिका अदा करे।

कोसी की कोख में अनेकों आशाएं पल रही है। हम कोसी के युवाओं के सपनो को एक मंच देंगे ..उन्हें रास्ता भी दिखायेंगे और हरदम हौंसला भी देंगे, क्योंकि यही कल कोसी के कर्णधार बनेंगे। ”कोसी टाइम्स” कोसी के गरीब–गुरबों,पीड़ितों और जरुरतमंदो के मदद में भी आगे रहेगा। कोसी क्षेत्र की जनता के हर दुःख–दर्द ,सुख –सफलता में साथ देने के लिए “कोसी टाइम्स” हर पल–हर पहर, वक़्त–बेवक्त तैयार है।

अँधेरी रात का मंजर बदल सको तो चलो
चिराग बनके जो महफिल में जलो तो चलो,
लिबास बदलने से कभी कुछ नहीं होगा
किसी गरीब की किस्मत बदल सको तो चलो.

“कोसी टाइम्स ”सूचना क्रांति के इस डिजिटल दौड़ में सनसनी फैलानेवाली खबरें परोसने की बजाय सामाजिक सरोकार को एक ध्येय मानकर …एक धर्म मानकर ..जवाबदेही और जिम्मेदारी मानकर ,सदैव और सतत अपने कर्तव्यपथ पर अग्रसर रहेगी। रास्ते कठिन हैं ,राहों में कई कठिनाईयों से मुठभेड़ भी होगी ,पर आप सब साथ होंगे तो मील के पत्थर पीछे छूटते जायेंगे …हम आगे ही आगे बढ़ते जायेंगे।

गम न कर जो न हो मंजिल तक पक्की सड़क
धूल भरी कच्ची सड़क ही सही, रास्ता तो है.

“कोसी टाइम्स” ज्ञान–विज्ञान ,शिक्षा ,रोजी–रोजगार के साथ–साथ संस्कार और सामाजिक सरोकार के निर्वहन में हर पल–हर पहर आपके साथ कंधे से कन्धा मिलाकर चलेगा। हमारे संस्कार ,हमारी संस्कृति और हमारी भारतीय सभ्यता ही हमें विश्वमंच पर सबसे अलग “अनेकता में एकता” वाली गर्वील छवि प्रदान करती है। ”कोसी टाइम्स” की कोशिश होगी भारतीय सभ्यता,संस्कृति और संस्कार को पुनः पल्वित पुष्पित करने की ….

किसी भी मुश्किल का अब किसी को कोई हल नहीं मिलता
शायद अब घर से कोई माँ के पैर छूकर नहीं निकलता !

“कोसी टाइम्स” जिन सपनो के साथ चली है …जिन राहों पर चल पड़ी है, हम जानते है उन राहों की कठिनाइयों के बारे में ….हमें गुमान (अहसास)है ,पर हमें आपके साथ और सहयोग का अभिमान (गर्व ) भी है। मन में विश्वास है हम निरंतर कामयाब होंगे। एक बेहतर बिहार और एक बेहतर कोसी की कल्पनाओ को साकार करना है।

आइए सहर्ष नववर्ष की बधाई स्वीकार कीजिये। कुछ सुझाव ,कुछ सलाह या फिर अपने मन की बात बेधड़क-निःसंकोच-निःसंदेह कहिये।www.kositimes.com से जुड़े रहिए ,जागरूक रहिए …और हाँ कुछ अपनी भी कहिए। आइए हमारी अपनी कोसी के विकास के वास्ते साथ-साथ कदम बढाइए …

मुमकिन हो सफर हो आसां ,अब साथ भी चल कर देखो
कुछ हम भी बदलकर देखें ,कुछ तुम भी बदलकर देखो !

नववर्ष आप सबको मंगलमय हो ! हम और हमारी कोसी-बिहार की धरती,देश की धरती धन्य –धान्य से परिपूर्ण हो। मकरसंक्रांति पर यही शुभकामना है। आप सबों के सपने साकार हो! “कोसी टाइम्स” हर कदम –हर दम हम सबका हमदम बनें ,ऐसी हमारी कामना है …प्रार्थना है …दुआ है !

जय कोसी ,जय हिन्द !
शुभकामनाओं सहित ,
भूपेंद्र कुमार यादव
संस्थापक ,कोसी टाइम्स

Comments

comments

x

Check Also

मुज़फ़्फ़रपुर : सड़क उद्घाटन करने पहुंचे सांसद अजय निषाद ने गिनाई केंद्र की उपलब्धियां

 अनवारूल अंसारी  कोसी टाइम्स @ मुरौल,मुजफ्फरपुर । मुरौल प्रखण्ड के विशनपुर श्रीराम पंचायत में गांव खासपट्टी यदुनाथपुर में सांसद  अजय ...